Asianet News HindiAsianet News Hindi

लखीमपुर: गिरफ्तारी से नहीं चलेगा काम, दोषियों को दी जाए फांसी की सजा, मृतका के पिता ने किया बड़ा खुलासा

यूपी के लखीमपुर में दो नाबालिग लड़कियों से दुष्कर्म कर हत्या मामले में मृतका के पिता ने आरोपियों को फांसी देने की मांग की है। इसके अलावा उन्होंने पुलिस कार्रवाई पर भी सवाल उठाए हैं। पुलिस ने 24 घंटे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

Lakhimpur only arrest will not work culprits should be given capital punishment father demanding justice made a big disclosure
Author
First Published Sep 15, 2022, 5:35 PM IST

लखीमपुर: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में दो नाबालिग दलित लड़कियों से दुष्कर्म कर उनकी हत्या कर दी गई। हत्या के बाद आरोपियों ने उनके शव को पेड़ पर लटका दिया। जिससे कि यह घटना आत्महत्या की लगे। अब इस घटना के बाद मृतका के पिता ने न्याय की मांग करते हुए कहा है कि आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें फांसी दी जाए। नाबालिगों के पिता ने कहा कि मेरी बेटियों का घर से अपहरण कर उनसे दुष्कर्म किया गया और इसके बाद उनकी हत्या कर दी गई। जिसके चलते उनके पिता ने आरोपियों को फांसी देने की मांग की है। इसके अलावा उन्होंने पुलिस कार्रवाई पर भी सवाल उठाते हुए मुआवजे की मांग की है।

मृतका के पिता ने की फांसी की मांग
मृतका के पिता ने आरोपियों को लेकर एक बड़ी खुलासा करते हुए कहा है कि इससे पहले भी एक आरोपी उनके घर में घुस आया था। इसके बाद जब वह घर के अंदर आए तो आरोपी दीवार फांदकर भाग गया था। उन्होंने कहा कि हमारी किसी से कोई भी दुश्मनी नहीं है। जब आरोपित युवक उनके घर में घुसा था उस दौरान काफी विवाद हुआ था। मृतका के पिता ने मांग करते हुए कहा कि हमें इस मामले में इंसाफ चाहिए। सिर्फ आरोपियों की गिरफ्तारी से काम नहीं चलेगा। आरोपियों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए। 

कोर्ट और SP की सौंपी जाएगी पोस्टमार्टम रिपोर्ट
नाबालिगों के शवों का पोस्टमार्टम कर शव पीड़ित परिवार को सौंप दिए गए थे। जिसके बाद उनके पिता शवों का अंतिम संस्कार करने की मांग पर अड़ गए। वहीं पीड़ितों के पोस्टमार्टम की रिपोर्ट अदालत को सौंपी जाएगी और उसकी एक कॉपी पुलिस अधीक्षक को सौंपी जाएगी। सीएमओ अरुणेंद्र त्रिपाठी के अनुसार, एक वीडियोग्राफर की मौजूदगी में डॉक्टरों के पैनल ने नाबालिग लड़कियों का पोस्टमार्टम किया है। जिसकी एक कॉपी अदालत तो दूसरी कॉपी एसपी को दी जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि हुई है।

एडीजी कानून व्यवस्था बोले- परिजन को सौंपे गए शव
एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने ने बताया कि पोस्टमार्टम पूरा हो चुका है। जिसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। वह अपने रीति-रिवाज के अनुसार उनका अंतिम संस्कार करवाएंगे। उन्होंने कहा कि जानकारी मिली थी कि 14 सितंबर को 2 नाबालिग सगी बहनों के शव लटके हुए पाए गए थे। इसके बाद पुलिस ने मामले पर कार्रवाई करते हुए 24 घंटे के अंदर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि 6 आरोपियों कि पहचान छोटू, जुनैद, सोहेल, हाफिजुल, करीमुद्दीन और आरिफ के तौर पर हुई है। आरोपियों पर हत्या, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। 

पुलिस ने 6 आरोपियों को किया गिरफ्तार
एसपी ने मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस मुठभेड़ में आरोपी जुनैद पकड़ा गया। मुठभेड़ के दौरान उसके पैर में गेली लगी थी। उन्होंने मामले पर खुलासा करते हुए कहा कि दोनों मृतक नाबालिगों की आरोपित युवकों से दोस्ती थी। दोस्ती का सहारा लेकर दोनों नाबालिगों को जुनैद और सोहेल खेतों की ओर बहला-फुसला कर ले गए थे। जिसके बाद उन्होंने लड़कियों से दुष्कर्म किया। हालांकि लड़कियां चाहती थीं कि आरोपित युवक उनसे शादी करें। सोहेल, हाफिजुल और जुनैद ने उन दोनों का रस्सी से गला दबाकर उन्हें मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद घटना आत्महत्या लगे, इसलिए उन्होंने अपने और दोस्तों को मौके पर बुलाकर उन्हें पेड़ से लटका दिया। ताकि लोगों को लगे कि दोनों ने फांसी लगाकर अपनी जान दी है।

लखीमपुर कांड: मृतक दलित नाबालिग बहनों का अंतिम संस्कार करने से परिवार ने किया इनकार, सरकार से रखीं 3 शर्तें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios