साहिबाबाद (Uttar Pradesh) । लॉकडाउन के दौरान परिवार के लोगों ने बेटे को सब्जी खरीदकर बाजार से लाने के लिए भेजा। लेकिन, सब्जी के बहाने बेटा शादी कर दुल्हन के साथ घर लौटा। जिसे देख परिवार के लोग हैरान रह गए। परिवार के लोग बात पढ़ने पर थाने पहुंचे। जहां पुलिस को कोरोना वायरस का हवाला देकर दुल्हन को घर में रखने से इंकार कर दिए। जिसके कारण पुलिस भी युवक-युवती का सहयोग नहीं कर सकी। वहीं, आखिर में युवक अपनी पत्नी को लेकर किराए के कमरे में रहने चला गया।

श्‍याम पार्क एक्‍सटेंशन का है मामला
युवक परिवार के साथ श्याम पार्क एक्सटेंशन में रहता है। आज सुबह घरवालों से यह कहकर निकला कि वह सब्जी लेने जा रहा है। दोपहर में अपने साथ एक दुल्हन लेकर घर पहुंचा। युवक ने परिवार वालों से बताया कि वह शादी करके आ रहा है। दोनों एक दूसरे से प्यार करते हैं। यह सुनकर परिवार वाले विरोध करना शुरू कर दिया। बात थाने तक पहुंच गई। वहीं, परिवार के लोग कोरोना वायरस और लॉकडाउन की बात कहते हुए युवक व दुल्हन को घर में इंट्री देने से मना कर दिए।

किराए के कमरे में गया युवक
साहिबाबाद थाने में करीब एक घंटे तक बात विवाद चलता रहा। लेकिन, कोरोना वायरस और लॉकडाउन का हवाला देते हुए घरवाले युवक को घर में एंट्री देने से इनकार कर दिए। पुलिस ने भी युवक को सहयोग नहीं किया। इसके बाद युवक अपने पत्नी को लेकर एक जानने वाले के यहां किराए के कमरे में रहने चला गया।

थाने में सुनाई ये कहानी
थाने में युवक व दूल्हन ने कहा कि तीन माह पूर्व उन्होंने हरिद्वार में शादी की थी। लॉकडाउन के चलते उन्हें शादी की अनुमति नहीं मिल रही थी। युवक युवती ने मंदिर में पहुंचकर आज सुबह शादी कर ली। मंदिर के पुजारी ने शादी कराई।

पुलिस ने कही ये बातें
प्रभारी निरीक्षक अनिल शाही का कहना है कि युवक युवती बालिग हैं। दोनों ने अपनी मर्जी से शादी की है। परिवार वालों को समझाया गया कि वह युवक को मना नहीं कर सकते। युवक कहां रहने गया है इसकी जानकारी नहीं है।