Asianet News HindiAsianet News Hindi

लखनऊ: मदरसों में पढ़ाई का वक्त बढ़ाने के फैसले का हुआ विरोध, मुस्लिम धर्मगुरु ने दिया इमामत का हवाला

यूपी के मदरसों में होने वाली पढ़ाई के समय में बदलाव किए जाने के निर्देश जारी किए गए। यूपी मदरसा बोर्ड द्वारा जारी की गई गाइडलाइन पर कुछ लोगों ने सवाल भी उठाए हैं। अब मदरसों में सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक क्लास ली जाएंगी।

Lucknow decision to increase time of study in madrasas was opposed Muslim religious leader cited Imamat
Author
First Published Oct 1, 2022, 2:33 PM IST

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मदरसों में पढ़ाई के समय में बदलाव कर दिया गया है। अब मदरसों में तय समय से एक घंटे ज्यादा पढ़ाई होगी। यूपी मदरसा बोर्ड ने राज्य के सभी मदरसों को यह निर्देश जारी किए थे। जारी किए गए निर्देशों के अनुसार, अब मदरसों में सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक पढ़ाई का समय तय हुआ है। वहीं शनिवार से मदरसों में राष्ट्रगान और दुआ से पढ़ाई की शुरुआत की गई। जहां एक ओर कई लोगों ने इस फैसले का स्वागत किया तो वहीं दूसरी ओर इस फैसले के विरोध में आवाज उठाई जाने लगी। 

मुस्लिम धर्मगुरु ने यूपी मदरसा बोर्ड की गाइडलाएन पर उठाए सवाल
मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना सुफियान निजामी ने इस फैसले पर एतराज जताया है। उनका कहना है कि पढ़ाई के समय को बढ़ाने से कई तरह की समस्याएं पैदा होंगी। सुफियान निजामी ने कहा कि मदरसों में पढ़ने वाले और पढ़ाने वाले इमामत भी करते हैं। ऐसे में समय बढ़ाए जाने से मदरसे से जुड़े लोगों की इमामत पर भी असर पड़ेगा। मुस्लिम धर्मगुरु निजामी के अनुसार, मदरसा बोर्ड के जिम्मेदार लोगों द्वारा जारी किए गए फैसले पर एक बार और विचार करने की आवश्यकता है। 

योगी सरकार मदरसों के बच्चों को आधुनिक शिक्षा देने का कर रही प्रयास
बता दें कि मदरसों में पढ़ाई के समय में हुए बदलाव के चलते अब बच्चों को 6 घंटे पढ़ाया जाएगा। इससे पहले मदरसों में सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक पढ़ाई होती थी। हालांकि जारी की गई इस गाइडलाइन की कुछ खामियों की ओर कई लोगों ने ध्यान दिलाया है। वहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार ने भी मदरसों में दी जाने वाली शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए कई तरह की पहल की है। यूपी के हर जिले में चलाए जा रहे मदरसों की जानकारी के लिए सरकार ने पूरा सर्वे भी करवाया है। इस सर्वे के आधार पर मदरसों में पढ़ने वाले छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए आधुनिक शिक्षा देने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों का भी पूरा रिकॉर्ड तैयार किया जा रहा है।

लखनऊ: 6वीं की छात्रा से एग्जाम में चेकिंग के बहाने टीचर ने की छेड़ाछाड़, विरोध करने पर शिक्षक ने बोली ऐसी बात

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios