SP प्रत्याशी डिंपल यादव के लिए प्रचार करेंगे पूर्व सांसद धनंजय सिंह, नए समीकरण से पूर्वांचल को साधने की तैयारी

| Nov 29 2022, 04:55 PM IST

SP प्रत्याशी डिंपल यादव के लिए प्रचार करेंगे पूर्व सांसद धनंजय सिंह, नए समीकरण से पूर्वांचल को साधने की तैयारी

सार

मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में सपा की प्रत्याशी डिंपल यादव को समर्थन देने की घोषणा करने के बाद जनता दल यूनाइटेड ने अब एक बड़ा कदम उठाया है। पार्टी ने पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह को डिंपल यादव के लिए प्रचार करने का भी काम सौंप दिया है।

मैनपुरी: उत्तर प्रदेश की मैनपुरी लोकसभा सीट में हो रहे उपचुनाव में समाजवादी पार्टी की उम्मीदवारी डिंपल यादव के पक्ष में पूर्व सांसद धनंजय सिंह चुनाव प्रचार करेंगे। इस संबंध में जनता दल यूनाइटेड ने समर्थन पत्र जारी कर दिया है। पार्टी ने पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह को डिंपल यादव के लिए प्रचार करने का भी काम सौंप दिया है। पूर्व सांसद धनंजय सिंह के साथ केसी त्यागी भी मैनपुरी पहुंच गए हैं। ऐसा माना जा रहा है कि मैनपुरी में धनंजय सिंह की उपस्थिति के साथ ही पूर्वांचल का सियासी समीकरण भी बदल सकता है।

समाजवादी पार्टी पूर्व सांसद को ठाकुर बाहुल्य इलाके में उतारेगी
बीजेपी से नाता तोड़ने के बाद जनता दल यूनाइटेड ने बिहार में राष्ट्रीय जनता दल के साथ मिलकर सरकार बनाई है। उसके बाद बिहार में हुए सत्ता परिवर्तन का असर मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में भी दिखाई पड़ेगा। जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश अध्यक्ष अनूप सिंह पटेल ने पत्र जारी कर बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव पूर्व सांसद धनंजय सिंह मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी डिंपल यादव के समर्थन में जनसभा करेंगे। ऐसा माना जा रहा है कि सपा ठाकुर बाहुल्य इलाके में उतारेगी। इस वजह से पूर्वांचल का सियासी समीकरण भी बदल सकता है।

Subscribe to get breaking news alerts

पूर्व सांसद धनंजय सिंह पूर्वांचल में समाजवादी पार्टी के रहे है विरोधी
इतना ही नहीं माना यह भी जा रहा है कि मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में जिस तरह से धनंजय सिंह की उपस्थिति हुई है, उससे पूर्वांचल का सियासी समीकरण बदलना तय है। अभी तक धनंजय सिंह यादव पूर्वांचल में समाजवादी पार्टी के धुर विरोधी रहे हैं। वह बसपा से सांसद चुने जाने के बाद समाजवादी पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं के निशाने पर भी रहे है। जौनपुर से मल्हनी से विधानसभा चुनाव धनंजय सिंह ने लड़ा था लेकिन हार का सामना करना पड़ा था। उन्हें सपा विधायक लकी यादव ने हराया था। 

साल 2021 में आजमगढ़ के ठेकेदार की हत्या पर दर्ज था मुकदमा
इसी तरह जिला पंचायत के चुनाव में भी समाजवादी पार्टी और धनंजय सिंह के बीच सीधी टक्कर हुई। जौनपुर के अलावा सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, अयोध्या, वाराणसी, चंदौली तक धनंजय सिंह का प्रभाव रहा है। बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय महासचिव माफिया धनंजय सिंह पर लखनऊ पुलिस ने जनवरी 2021 में आजमगढ़ के ठेकेदार अजीत सिंह की हत्या की साजिश करने पर 25 हजार का ईनाम भी घोषित किया है।

शादीशुदा शहजाद ने दीपक बनकर सपना से रचाई शादी, 10 साल पत्नी की तरह रखने के बाद बनाने लगा धर्म परिवर्तन का दबाव

कानपुर: MLA इरफान की जमानत याचिका खारिज कराने की तैयारी, नेता समेत भाई का आपराधिक डेटा खंगालने में जुटी पुलिस

SP विधायक इरफान के खिलाफ सबूत नहीं पेश कर सकी पुलिस, कोर्ट ने एक हफ्ते का समय देकर सुनाया बड़ा फैसला

सपा नेता इरफान सोलंकी आज जमानत के लिए कोर्ट में हो सकते हैं हाजिर, पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए बढ़ाई चौकसी