Asianet News HindiAsianet News Hindi

दोस्त को बेरहमी से मारा, नहीं छोड़ा लाश का एक भी टुकड़ा, एक-एक अंग कुकर में पकाया

यूपी के आगरा में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक शख्स ने अपने दोस्त को फिरौती के लिए अगवा किया। उसके बाद उसकी लाश के टुकड़े टुकड़े कर कुकर में पका दिया। यही नहीं, कुछ अंग को काटकर नाले में बहा दिया।

man death after kidnapped by friend in agra
Author
Agra, First Published Nov 15, 2019, 4:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

आगरा (Uttar Pradesh). यूपी के आगरा में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक शख्स ने अपने दोस्त को फिरौती के लिए अगवा किया। उसके बाद उसकी लाश के टुकड़े टुकड़े कर कुकर में पका दिया। यही नहीं, कुछ अंग को काटकर नाले में बहा दिया।  

क्या है पूरा मामला
मामला बिचपुरी मार्ग पर स्थित मंगोलिया कॉलोनी का है। किरावली का रहने वाला धर्मेंद्र तिवारी कंप्यूटर ऑपरेटर था। बीते 18 अक्टूबर को वह अचानक लापता हो गया। जिसके बाद उसके पिता ने अछनेरा थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। जांच में पता चला कि धर्मेंद्र को आखिरी बार उसके दोस्त ललित के साथ देखा गया था। जिसका वीडियो फुटेज भी सामने आया था। शक के आधार पर पुलिस मंगोलिया कॉलोनी ललित के घर पहुंची, जहां वो अपनी मां और भाई के साथ रहता था। तीनों को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपना जुर्म कुबूल करते हुए हैरान करने वाले खुलासे किए। 

इस वजह से हुई युवक की मौत 
पुलिस से ललित ने कहा, मेरे उपर काफी लोगों का कर्ज था। जिसे उतारने के लिए फिरौती के मकसद से धर्मेंद्र को अगवा किया। हम पहले एक साथ किराए के मकान में रहते थे। वो आर्थिक रूप से मजबूत परिवार से था। इसलिए सोचा था 50 लाख रुपए फिरौती मांग उसे छोड़ देंगे। 18 अक्टूबर को धर्मेंद्र को बहाने से अपने घर बुलाया और कॉफी में नशीला पदार्थ मिलाकर उसे पिला दिया। थोड़ा नींद में आने पर उसे इंजेक्शन लगाकर बेहोश कर दिया और हाथ-पैर, मुंह टेप से बांधकर कमरे में बंद कर दिया। लेकिन इस दौरान मुंह बंधाा होने के कारण धर्मेंद्र की मौत हो गई। जिसको बाद उसकी लाश को ठिकाने लगाने का प्लान बनाया। लाश के छोटे-छोटे टुकड़े किए। छोटे टुकड़ों को कुकर में पकाया और बड़े हिस्सों को नाली में फेंक दिया। कंकाल को बैग में भरकर रख दिया।

रोज घर से आती थी मीट पकने की महन
पड़ोसियों ने बताया, हर दिन घर से मीट पकाने की महक आती थी। लेकिन इस बात का अंदाजा नहीं था कि किसी की लाश पकाई जा रही है। पुलिस ने बताया, अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि मां-बेटे ने इंसानी गोश्त खाया है या नहीं। फिलहाल, तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। फोरेंसिक टीम से भी जांच कराई गई है। कई अहम सुराग मिले हैं। जांच जारी है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios