मथुरा: तीन युवकों ने नाबालिग से गैंगरेप कर उतारा मौत के घाट, भाई बोला- आंखों के सामने दिया वारदात को अंजाम

| Dec 03 2022, 11:01 AM IST

मथुरा: तीन युवकों ने नाबालिग से गैंगरेप कर उतारा मौत के घाट, भाई बोला- आंखों के सामने दिया वारदात को अंजाम

सार

यूपी के मथुरा में तीन युवकों ने एक नाबालिग के साथ गैंगरेप कर उसकी हत्या कर दी। मृतका के भाई ने बताया कि आरोपियों ने उसकी आंखों के सामने घटना को अंजाम दिया है। वहीं ग्रामीणों ने दो आरोपियों को पुलिस को सौंप दिया है। जबिक अन्य एक मौके से फरार हो गया।

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। बता दें कि जिले में दलित नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप कर उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी गई। मृतका का शव उसके घर से मात्र 50 मीटर की दूरी पर खेत में पड़ा मिला। बताया जा रहा है कि शुक्रवार देर शाम वह शौच के लिए गई थी। वहीं लड़की का शव मिलने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। यह घटना महावन थाना क्षेत्र की है। जिसके बाद पुलिस को फौरन मामले की सूचना दी गई। मृतका के भाई ने बताया कि जब उसकी बहन काफी देर तक घर वापस नहीं लौटी तो वह खेतों की ओर उसे देखने के लिए निकला।

एक आरोपी मौके से हुआ फरार
मृतका के भाई ने बताया कि खेतों की ओर जाने पर उसे चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनाई दी तो उसने मोबाइल की टॉर्च जलाकर देखा। इस दौरान गांव के तीन युवक उसकी बहन के साथ गैंगरेप कर रहे थे। पीड़िता के भाई को देखते ही आरोपी युवक मौके से फरार हो गए। जब उसने पीड़िता के पास जाकर देखा तो उसकी मौत हो चुकी थी। मृतका के परिजनों ने योगेंद्र, सचिन और देशराज के खिलाफ नामजद तहरीर दी है। वहीं गांव में रहने वाले दो आरोपियों योगेंद्र और देशराज को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। जबिक सचिन भागने में कामयाब हो गया। वहीं मामले की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस दोनों आरोपियों को थाने ले गई है। 

Subscribe to get breaking news alerts

पुलिस कर रही मामले की जांच
बता दें कि दलित परिवार की लड़की गैंगरेप और हत्या की जानकारी मिलते ही मौके पर स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गई। गांव में SSP सहित कई थानों की पुलिस फोर्स पहुंच गई। वहीं पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हाथरस निवासी आरोपी योगेंद्र करीब 5 साल से अपनी बहन के यहां रहकर मजदूरी करता था। योगेंद्र का भांजा सचिन है और देशराज उनके पड़ोस में रहता है। पीड़िता के ताऊ ने बताया कि सभी आरोपी दलित हैं। वारदात के समय पीड़िता की मां घर पर मौजूद नहीं थी। SSP शैलेश पांडे ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बांके बिहारी मंदिर में दर्शन का समय बढ़ाने की मांग पर हाईकोर्ट ने लगाया स्टे, हादसे के बाद बरती जा रही सख्ती