Asianet News Hindi

नाबालिग से दुष्कर्म की कोशिश, पुलिस रवैये से परेशान होकर लड़की ने की आत्महत्या

मामला भमोरा थाना क्षेत्र का है। यहां रहने वाली नाबालिग किशोरी 11 सितंबर को पशुओं का चारा लेने जंगल गई थी। परिजनों ने बताया, जंगल में 2 लड़कों ने बेटी के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की।

minor commits suicide due to police attitude
Author
Bareilly, First Published Sep 18, 2019, 7:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बरेली (Uttar Pradesh). यूपी के बरेली में एक नाबालिग संग दुष्कर्म की कोशिश की गई। जिसके बाद पुलिस ने पीड़िता को इतना परेशान किया कि उसने खुदकुशी कर ली। एसएसपी ने आरोपी दरोगा (up police) को निलंबित कर दिया है। साथ ही मामले की जांच शुरू कर दी है। 

क्या है पूरा मामला
मामला भमोरा थाना क्षेत्र का है। यहां रहने वाली नाबालिग किशोरी 11 सितंबर को पशुओं का चारा लेने जंगल गई थी। परिजनों ने बताया, जंगल में 2 लड़कों ने बेटी के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। घर वापस लौटकर बेटी ने जब इसके बारे में बताया तो हम उसे लेकर थाने गए। जहां मुंशी ने हमारी तहरीर फेंक दी। बेटी ने 1090 नंबर पर फोन किया। दूसरे दिन महिला हेल्पलाइन से हम दोबारा थाने पहुंचे। फिर भी हमारी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई।

पुलिस के रवैये से पीड़िता थी परेशान
इसके बाद हम बड़े अधिकारियों से मिले, जिसके बाद भमोरा थाने में हमारा केस दर्ज किया गया। विवेचना कर रहे दारोगा बलवीर सिंह कभी मेडिकल तो कभी बयान देने को लेकर बार-बार बेटी को थाने बुला रहे थे। बार-बार गांव से चौकी आने जाने, वहां घंटों खड़े रहने, फिर पुलिस के बात करने के तरीके से बेटी काफी परेशान थी। गांव के कुछ दबंग व आरोपी बेटी का मजाक उड़ाने लगे, जिससे आहत होकर उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

एसएसपी का क्या है कहना
एसएसपी शैलेन्द्र पाण्डेय ने प्रकरण में प्रथम दृष्टि में विवेचक बलवीर सिंह को दोषी मानते हुए उन्हें निलंबित कर दिया। मुंशी संदीप को लाइन हाजिर कर दिया है। जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने बताया, 11 सितंबर की घटना थी, केस 13 सितंबर को क्यों लिखा गया? इसकी जांच होगी। दुष्कर्म का प्रयास करने वाले दोनों आरोपियों धीरसिंह व दुर्वेश को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios