बुलंदशहर (Uttar Pradesh)  महाराष्ट्र के पालघर के बाद अब यूपी में दो साधुओं की धारदार हथियारों से नृशंस हत्या कर दी गई है। वारदात को उस समय अंजाम दिया गया जब दोनों साधु शिव मंदिर में पूजा-अर्चना में लीन थे। आज सुबह मंदिर पहुंचे ग्रामीणों को हत्या की जानकारी हुई। फिलहाल घटना की सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर तैनात कर दी गई है। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बता दें कि 17 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर में दो साधु और एक ड्राइवर की करीब 200 लोगों की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

यह है पूरा मामला
अनूपशहर कोतवाली के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर पर पिछले करीब 10 वर्षों से साधु जगनदास उम्र (55) वर्ष और सेवादास (35) रहते थे। दोनों साधु मंदिर में रहकर पूजा-अर्चना में लीन रहते थे, तभी सोमवार की देर रात मंदिर परिसर में ही दोनों साधुओं की धारदार हथियारों से प्रहार कर हत्या कर दी गई। 

इस वजह से की हत्या
एसएसपी बुलंदशहर संतोष कुमार सिंह का कहना है कि हत्या करने वाला गांव का ही निवासी है, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई कि कुछ दिन पहले उसने पुजारियों का चिमटा गायब कर दिया था, जिसके बाद पुजारियों ने उसे डांटा था। इसके बाद ही उसने आज सुबह दो पुजारियों की हत्या कर दी। फिलहाल आगे की जांच जारी है।

सीएम योगी ने लिया मामले का संज्ञान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लिया है। उन्होंने जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को तुरंत मौके पर पहुंच कर घटना के संबंध में विस्तृत आख्या देने को कहा है। साथ ही उन्होंने दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा है।