Asianet News HindiAsianet News Hindi

नोएडा प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर, कंट्रोल रूम के साथ किए खास इंतजाम, जानें ट्विन टावर गिराने से पहले की तैयारी

नोएडा में सुपरटेक के ट्विन टावर्स को गिराने की प्रक्रिया अब अंतिम चरण में है। नोएडा प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर, कंट्रोल रूम, भारी संख्या में पुलिस बल के साथ-साथ कई खास इंतजाम किए हैं। रविवार 28 अगस्त की सुबह सात बजे तक लोगों को घरों को खाली करने का समय दिया गया है।

Noida administration made special arrangements with helpline number control room know preparation before demolition twin tower
Author
Lucknow, First Published Aug 27, 2022, 10:08 AM IST

नोएडा: नोएडा के सेक्टर 93-ए में स्थित सुपरटेक के ट्विन टॉवर्स को अगले करीब 24 घंटे में मलबे के ढेर में तब्दील कर दिया जाएगा। ट्विन टावर्स के धवस्तीकरण की तैयारियां पूरी हो चुकी है। प्रशासन ने किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए कमर कस ली है। 32 मंजिलों वालों ये दोनों बिल्डिंग को कल यानी 28 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गिराया जा रहा है। इसके तहत इस इलाके की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और आपात सेवाओं को अलर्ट पर रहने के निर्देश जारी किए गए हैं।  

इन नंबरों में सूचना या कर सकते हैं शिकायत 
प्रशासन के द्वारा न केवल पुलिस फोर्स की भारी संख्या में तैनाती होगी, बल्कि नोएडा अथॉरिटी कंट्रोल रूम के माध्यम से इस ध्वस्तीकरण अभियान पर अपनी नजर बनाए रखेगा। इतना ही नहीं, नोएडा अथॉरिटी ने शिकायतों के लिए हेल्प लाइन नंबर भी जारी किए हैं। इन 0120-2425301, 0120-2425302, 0120-2425025 नंबरों पर सूचना या शिकायत दर्ज की जा सकती है। ट्विन टावर ब्लास्ट को लेकर नोएडा ऑथोरिटी ने एक कंट्रोल रूम की भी स्थापना की है, जो बिल्डिंग को ढहाने के बाद किसी भी स्थिति से निपटने के लिए होगी। इसके जरिए शिकायत दर्ज कर कार्रवाई करेगा। इसको 28 अगस्त की सुबह छह बजे सक्रिय कर दिया जाएगा और 30 अगस्त तक 24 घंटे काम करेगा। 

400 से अधिक पुलिसकर्मी रहेंगे मौजूद
इमारत के आसपस तैनात लोगों के लिए एन-95 मास्क और कैप प्रदान किए जाएंगे। प्रभावित क्षेत्र में व्यक्तियों का प्रवेश अथवा आवागमन शाम 5 बजे के बाद ही संभव हो पाएगा। ट्विन टावर्स के विध्वंस पर डीसीपी सेंट्रल राजेश एस ने कहा कि 400 से अधिक सिविल पुलिस कर्मी मौके पर मौजूद रहेंगे। इसके अलावा एनडीआरएफ से भी अनुरोध किया गया है। साथ ही चार फायर टेंडर, आठ एम्बुलेंस स्पॉट पर ही रहेंगे और तीन अस्पतालों में आपात स्थिति के लिए बेड रिजर्व रहेंगे। इतना ही नहीं जरूरत पड़ी तो ग्रीन कॉरिडोर भी बनाया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि रविवार की सुबह सात बजे तक डेडलाइन का पालन करने और घरों को खाली करने के लिए कहा गया है। 

एक्सप्रेसवे को एक घंटे के लिए किया जाएगा बंद
डीसीपी सेंट्रल राजेश एस आगे कहते है कि यातायात व्यवस्था को संभालने के लिए ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाएगा। सुरक्षा के लिए सोसाइटी में सीमित संख्या में गार्ड की अनुमति दी जाएगी। सुरक्षा गार्ड भी रविवार को 2.30 बजे होने वाले विस्फोट से पहले 1.45 बजे चले जाएंगे। इतना ही नहीं, एक्सप्रेसवे को कम से कम लगभग 1 घंटे के लिए 2 बजे से 3 बजे के बीच बंद किया जाएगा। 31 अगस्त तक इलाके में ड्रोन के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है। साथ ही इसके पास-पास इलाके को धवस्तीकरण वाले दिन सुबह से ही बंद कर दिए जाएंगे। टावर के आसपास की सोसाइटी के लोगों को रविवार की सुबह 7 बजे तक इलाके को खाली करने के लिए भी कहा गया है।

मलबे को हटाने में लगेगा तीन महीने का समय
नोएडा सेक्टर 93ए में सुपरटेक के अवैध ट्विन टावर रविवार 28 अगस्त को दोपहर 2.30 बजे 9 सेकंड में ध्वस्त हो जाएंगे। सेयेन (29 मंजिला) और एपेक्स (32 मंजिला) के विध्वंस से लगभग 35,000 क्यूबिक मीटर मलबा निकलेगा, जिसको हटाने में कम से कम तीन महीने का वक्त लगेगा। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों टावरों को विस्फोटक से गिराने को हरी झंडी दे दी है। इन जुड़वा बिल्डिगों को ब्लास्ट की पहली तारीख 21 अगस्त थी लेकिन अदालत ने नोएडा प्राधिकरण के अनुरोध को स्वीकारते हुए धवस्तीकरण की तारीख 28 अगस्त तक बढ़ा दी है। इन इमारतों को नियमों के उल्लंघन की वजह से तोड़ा जा रहा है।

24 घंटे बाद 103 मीटर ऊंची यह जुड़वा बिल्डिंग हो जाएगी मिट्टी का ढेर, सिर्फ 9 सेकेंड में मिट जाएगा नामो-निशां

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios