Asianet News HindiAsianet News Hindi

योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक महीना हुआ पूरा, इन 30 दिनों में लिए गए कई महत्वपूर्ण फैसले

 25 मार्च 2022 को मुख्यमंत्री के पद की लगातार दूसरी बार शपथ लेने के बाद ही योगी आदित्यनाथ ने अपने इरादे तथा वरीयता को जाहिर कर दिया था। स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार लाने के साथ सरकार ने भ्रष्टाचार पर प्रहार जारी रखा है। उत्तर प्रदेश में लगातार दूसरी बार सत्ता पर काबिज होने वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अपना 30 दिन का कार्यकाल आज पूरा कर लिया है।  25 मार्च 2022 को मुख्यमंत्री के पद की लगातार दूसरी बार शपथ लेने के बाद ही योगी आदित्यनाथ ने अपने इरादे तथा वरीयता को जाहिर कर दिया था।

One month Yogi government second term completed many important decisions taken these 30 days
Author
Lucknow, First Published Apr 25, 2022, 6:08 PM IST

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की सत्ता में दोबारा वापसी कर भारतीय जनता पार्टी ने इतिहास रचा था। दूसरी बार सत्ता में काबिज होने वाली बीजेपी सरकार ने अपना 30 दिन का कार्यकाल आज पूरा कर लिया है। इसी के साथ इन 30 दिनों में योगी आदित्यनाथ सरकार ने 30 दिन में ही 30 फैसले पर काम भी किया है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने विभागों के अनुसार आमजन के लिए रोडमैप तैयार किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 25 मार्च को राज्य के सीएम के पद की लगातार दूसरी बार शपथ लेने के बाद ही अपने इरादे और वरीयता को जाहिर कर दिया था। इस एक महीने में योगी आदित्यनाथ ने जिस तरह से काम किया है उन्होंने विरोधियों को चुप करा दिया है। पिछले तीस दिनों में योगी सरकार ने कई ऐसे फैसले लिए जो एक सीएम और नेता के तौर पर आदित्यनाथ की अलग पहचान बनाते हैं। साथ ही अपने दूसरे कार्यकाल में भाजपा के मिशन 2024 पर फोकस कर रही है। 

अवैध निर्माण, स्वास्थ्य विभाग पर योगी ने दिया जोर
राज्य सरकार ने अवैध निर्माण तथा काम के खिलाफ चलने वाले बुलडोजर का जिक्र उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में किया था। दुबारा सरकार बनते ही जमकर बुलडोजर चल रहा है। पुलिस ने भी अपराधियों तथा रोमियो के खिलाफ अपने अभियान को गति दी है। 

प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार लाने के साथ सरकार ने भ्रष्टाचार पर प्रहार जारी रखा है। योगी सरकार दूसरे कार्यकाल में पांच सालों में स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार के साथ ही अन्य विभागों के लिए भी योजना बना ली है। साथ ही राज्य में आने वाले पांच सालों में मेडिकल प्रोफेशनल सीटें दोगुनी होंगी। जिसमें पांच सालों में एमबीबीएस की 7000, पीजी की 3000, नर्सिंग की 14,500 और पैरामेडिकल की 3,600 सीटों को बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान भी जारी है।

योगी सरकार महिलाओं, बेरोजगारों, महिलाओं के साथ-साथ गरीबों के आवास  पर भी जोर दे रही है। प्रदेश सरकार ने सभी योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए संपूर्ण रोडमैप तैयार कर अधिकारियों और मंत्रियों की जिम्मेदारी भी तय कर दी है। इतना ही नही सभी विभागों के कार्य पर सीएम योगी आदित्यनाथ भी लगातार नजर बनाए हुए है। 

योगी आदित्यनाथ सरकार 2.0 के 30 दिन के काम-

1. मुफ्त राशन योजना 3 महीने के लिए बढ़ी: मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट की पहली ही बैठक में मुफ्त राशन योजना को तीन महीने के लिए बढ़ाने का बड़ा फैसला लिया। राज्य में 15 करोड़ लोगों को राशन आगे भी मिलता रहेगा। 

2. भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालरेंस: 
योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में भी भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालरेंस की भूमिका लगातार बढ़ाया है। सत्ता में दोबारा वापसी के बाद कई अधिकारियों के तबादले तो कई अधिकारियों को वेटिंग लिस्ट में डाला। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोनभद्र व औरया के जिलाधिकारी सुनील वर्मा को निलंबित किया गया। गाजियाबाद के एसएसपी पवन कुमार के साथ ही अन्य कई अधिकारी भी लापरवाही तथा भ्रष्टाचार के मामले में सरकार की रडार पर आ गए।

3. सौ से अधिक जगह चले बुलडोजर:
 पिछले 20 दिनों में सौ से ज्यादा अपराधियों और माफियाओं पर बुलडोजर गरजा और 200 करोड़ से ज्यादा अवैध संपत्ति को ध्वस्त किया गया। जिसमें 25 माफिया, डीजीपी ऑफिस और 8 शासन की तरफ से चिन्हित किए गए थे। सरकार अपराधियों और माफियाओं के अवैध काम तथा ठिकानों पर बिल्कुल ढील देने के मूड में नही है। अवैध निर्माण तथा सरकार जमीन पर कब्जा के मामले में सरकार काफी सख्त है। साथ ही अवैध कब्जे हटाने के दौरान मुख्यमंत्री का निर्देश है कि गरीबों और दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी।

4. वरीयता पर सरकारी कर्मियों का अनुशासन:
 सरकारी दफ्तरों में लेटलतीफी और फाइलों को टरकाने की कार्यशैली पर भी मुख्यमंत्री ने सख्त कदम उठाया। सभी विभागों के कर्मचारियों और अधिकारियों को समय पर दफ्तर पहुंचने और 30 मिनट का लंच ब्रेक। तो वहीं तीस मिनट के लंच ब्रेक के बाद कार्यस्थल पर पहुंचने का निर्देश जारी किया। यह आदेश न मानने वाले अफसरों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई भी तय की गई।

5. आंगनबाड़ी कार्यकत्री के पदों पर भर्ती: 
राज्य की सत्ता को दोबारा संभालने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकारी नौकरी और लोगों को रोजगार देने के मामले में भी अपनी वरीयता तय कर ली है। उन्होंने छह महीने में आंगनबाड़ी कार्यकत्री के 20 हजार पदों पर भर्ती का निर्देश दिया है। साथ ही सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों और स्वास्थ्य सखियों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिलाया जाए

6. होमगार्ड में 20 प्रतिशत महिलाओं की भर्ती:
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस बल के लिए 86 राजपत्रित और 5295 अराजपत्रित नए पदों को शासन ने मंजूरी दी है। साथ ही यूपी में होमगार्ड के 20 प्रतिशत पदों पर होगी महिलाओं की भर्ती, 100 दिन में शुरु होगी प्रक्रिया

7. एंटी रोमियो स्क्वाड को फिर से किया शुरू : 
सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने पहले कार्यकाल में महिलाओं और छात्राओं की सुरक्षा के लिए बना गए एंटी रोमियो स्क्वाड को अपने दूसरे कार्यकाल में भी जारी रखने का फैसला लिया। मुख्यमंत्री ने नवरात्र पर्व के पहले दिन से महिला सुरक्षा को लेकर पुलिस विभाग को विशेष अभियान चलाए जाने के निर्देश दिए। साथ ही यूपी में महिला होमगार्ड्स को एंटी टेरेरिस्ट मॉड्यूल का प्रशिक्षण देने के निर्देश भी दिए है।

8. सभी तहसीलों में फायर टेंडर की सुविधा: 
योगी सरकार सभी तहसीलों में फायर टेंडर की सुविधा उपलब्धता कराने के लिए तेजी से कार्य कर रही है। ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतम 15 मिनट और शहरी क्षेत्र में अधिकतम 7 मिनट का रिस्पांस टाइम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। 

9. 100 दिन में औद्योगिक निवेश की बढ़ावा: 
यूपी सरकार दो वर्ष के अंदर 10 लाख करोड़ रुपए के निवेश लक्ष्य के साथ फिर होगी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट, 100 दिन में तीसरी  ग्राउंड ब्रेंकिंग सेरेमनी, औद्योगिक निवेश की बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार बड़ी छलांग लगाने की तैयारी में हैं। 

10. जनता दर्शन की हुई फिर शुरूआत:
 योगी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में मुख्यमंत्री आवास पर जनता दर्शन की वापस शुरूआत की। जिसमें हर दिन सरकार के एक मंत्री की मौजूदगी में जन समस्याओं के निस्तारण के निर्देश दिए।

11. संचारी रोग नियंत्रण अभियान की शुरुआत: 
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में दो अप्रैल को प्रदेश मेंसंचारी रोग नियंत्रण अभियान की शुरुआत की। इसके साथ ही मेडिकल वयवस्था को बेहतर बनाने के निर्देश दिए।

12. वृद्ध महिलाओं को बसों में मुफ्त यात्रा: 
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में 60 वर्ष से ऊपर की उम्र की महिलाओं को परिवहन निगम की बसों में मुफ्त यात्रा के लिए कार्य योजना मांगी है। यह जल्द ही शुरू होने वाली है।

13. सरकारी स्कूलों में सौ प्रतिशत प्रवेश का लक्ष्य:
 योगी सरकार ने श्रावस्ती जनपद से स्कूल चलो अभियान को शुरू किया। इस अभियान के जरिए कम साक्षरता वाले जिलों पर विशेष फोकस किया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन जिलों में स्कूल चलो अभियान की शुरुआत की जहां साक्षरता दर काफी कम है।

14. सीओ और एसडीएम को रात में समस्या सुनने का निर्देश: 
मुख्यमंत्री ने तहसील स्तर पर जनसमस्याओं के निस्तारण के लिए वहां तैनात एसडीएम, तहसीलदार और सीओ को उनके तैनाती स्थल पर ही विश्राम और लोगों की समस्याओं का निस्तारण करने का निर्देश दिया है।

15. मंत्रियों को जिलों में रात्रि विश्राम के आदेश: 
सरकार की विकास योजनाओं को धरातल पर उतारने और अधिकारियों से बेहतर तालमेल के लिए मंत्रियों को जिले में रात्रि विश्राम के लिए योगी सरकार ने निर्देश दिए हैं।

16. युवाओं को टैबलेट और स्मार्टफोन: 
योगी सरकार ने युवाओं को हाथों में 9.74 लाख टैबलेट और स्मार्टफोन देने की कार्रवाई भी शुरू कर दी है। 

17. पुरोहित कल्याण बोर्ड:
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के बुजुर्ग संतों, पुरोहितों और पुजारियों के लिए एक कल्याण बोर्ड का गठन करने का निर्देश दिया।

18. नए स्थलों पर नहीं लगेगा माइक और लाउडस्पीकर:
 योगी सरकार ने लाउडस्पीकर और माइक पर हुई हिंसा के बाद से राज्य में नए स्थानों पर लगाने की अनुमति दी है। जहां पर पहले से लगे है वहां पर परिसर के बाहर आवाज नहीं जानी चाहिए। 

19. स्मार्ट सिटी की तर्ज पर स्मार्ट गांव: 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्मार्ट सिटी के तर्ज पर स्मार्ट गांव विकसित करने के भी निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने अधिकारियों से इस संबंध में कार्ययोजना बनाने को कहा है।

20. धार्मिक जुलूस निकालने पर रोक:
 दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में अमन-चैन कायम रखने के लिए धार्मिक जुलूसों को बिना अनुमति के निकालने पर रोक लगा दी। मुख्यमंत्री के इस फैसले का सभी धर्मों के धर्मगुरुओं ने स्वागत किया।

21. पूर्वी पाकिस्तान से आए 63 हिंदू परिवारों को घर व जमीन: 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले 30 दिन के कार्यकाल में जो अहम फैसले लिए उसमें 52 वर्ष पहले पूर्वी पाकिस्तान से आए 63 हिन्दू परिवारों को उनका खेती के लिए दो एकड़ जमीन देने का फैसला भी शामिल है। 

22.  गरीब बेटियों की शादी के लिए रुपयों का अनुदान:
 मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत गरीब बेटियों की शादी के लिए मिलने वाले अनुदान की राशि को 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया।

23.  छह महीने में गरीबों के लिए 2.51 लाख आवास:
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गरीब परिवारों को पक्का घर देने के लिए बनी आवास योजना में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि छह महीने में 2.51 लाख आवास बनाए जाएं।

24. सौ दिन में दस हजार नौकरियां: 
सीएम योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न विभागों में खाली पड़े दस हजार पद पर सरकार के सौ दिन के कार्यकाल के अंदर भर्ती को पूरा करने का निर्देश दिया।

25. प्राकृतिक संग्रहालय को किया जाए स्थापित:
 योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि अयोध्या में नियमित रामलीला का आयोजन किया जाएगा। हस्तिनापुर, मेरठ और गोरखपुर में प्राकृतिक विज्ञान संग्रहालय की स्थापना की जाए। वाराणसी में संत रविदास संग्रहालय व सांस्कृतिक केंद्र की स्थापना कराई जाए।

26.  पुलिस सुधार आयोग का कार्यकाल बढ़ा: 
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पुलिस व्यवस्था को आधुनिक बनाने और उसमें सुधार लाने के लिए बनाए गए पुलिस सुधार आयोग के कार्यकाल को 30 जून तक बढ़ा दिया गया।

27.100 दिनों में 8000 करोड़ गन्ना भुगतान का आदेश:
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुबारा सत्ता संभालते ही गन्ना किसानों के भुगतान पर ध्यान दिया। उन्होंने 100 दिन के भीतर गन्ना किसानों को 8000 करोड़ रुपये का भुगतान का निर्देश भी दिया।

28. 200 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त: 
योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे कार्यकाल में भी अपराधियों और माफिया के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी। एक महीने के भीतर ही अवैध तरीके से अर्जित दो सौ करोड़ की संपत्ति जब्त की गई है।

29. मेडिकल प्रोफेशनल सीटें होगी दुगनी:
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में आने वाले पांच सालों में मेडिकल प्रोफेशनल सीटों को दोगुना करने के निर्देश दिए है। जिसमें पांच सालों में एमबीबीएस की 7000, पीजी की 3000, नर्सिंग की 14,500 और पैरामेडिकल की 3,600 सीटों को बढ़ाया जाएगा। 

30. 100 ग्राम पंचयातों में खिलाड़ियों को जिम: 
योगी सरकार ने राज्य की 100 ग्राम पंचायतों में खिलाड़ियों को ओपन जिम की सौगात देने के निर्देश दिए है। साथ ही यूपी सरकार आयुष्मान भारत योजना से महिला और पुरुष होमगार्ड जवानों का स्वास्थ्य बीमा भी कराएगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios