Asianet News HindiAsianet News Hindi

मालकिन की मौत से दुखी पालतू कुत्ते ने किया सुसाइड, घर की चौथी मंजिल से लगा दी छलांग

यूपी के कानपुर में अपनी मालकिन की मौत पर कुत्ते ने घर की चौथी मंजिल से छलांग लगाकर जान दे दी। मालकिन स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त निदेशक थीं। इस घटना के बाद कुत्ते की वफादारी और अपनी मालकिन से बेइंतहा लगाव की चर्चा जोरों पर है

Pet dog commits suicide on mistress death jumps from fourth floor of house kpl
Author
Kanpur, First Published Jul 2, 2020, 11:30 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कानपुर(Uttar Pradesh). कहते हैं कि जानवर अपने मालिक के प्रति बहुत वफादार होते हैं। लेकिन वफादारी और मालिक के प्रति प्रेम का एक ऐसा उदाहरण देखने को मिला है जिसे देखकर हर कोई स्तब्ध है। यूपी के कानपुर में अपनी मालकिन की मौत पर कुत्ते ने घर की चौथी मंजिल से छलांग लगाकर जान दे दी। मालकिन स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त निदेशक थीं। इस घटना के बाद कुत्ते की वफादारी और अपनी मालकिन से बेइंतहा लगाव की चर्चा जोरों पर है। कुत्ते का शव भी मालकिन के शव के पास ही रखा गया था और मालकिन के अंतिम संस्कार के बाद देर रात पालतू मादा कुत्ते जया को भी विधिवत घर के समीप ही दफना दिया गया।

यूपी के कानपुर के बर्रा इलाके में रहने वाली डॉ. अनीता राज सिंह स्वास्थ्य विभाग में संयुक्त निदेशक थीं। पिछले लंबे समय से वह किडनी की बीमारी से जूझ रहीं थीं। अप्रैल में गुर्दा प्रत्यारोपण होना था। दिल्ली के अस्पताल से डेट भी मिल चुकी थी लेकिन कोरोना के कारण प्रत्यारोपण नहीं हो पाया। बुधवार को उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। उनकी मौत के कुछ देर बाद ही उनके पालतू मादा कुत्ते ने भी घर की चौथी मंजिल से कूद कर जान दे दिया।

मरते हुए कुत्ते के बच्चे को दी थी जिन्दगी 
डॉ अनीता राज सिंह के बेटे तेजस के मुताबिक 12 साल पहले उसर्ला अस्पताल के पास एक कुत्ते के पांच बच्चे हुए थे। उनमें से एक बच्चे की हालत खराब थी उसको कीड़े पड़ गए थे। उसकी मां भी बच्चों के साथ नहीं थी। मरते बच्चे को बचाने की मंशा से डॉ. अनीता उसे घर उठा लाईं और उसका अच्छे से इलाज किया। कुत्ते के इस मादा बच्चे को उन्होंने जया नाम दिया। उसकी देखभाल वह अपने बच्चे की तरह करती थीं। तेजस के अनुसार जया से मां का गहरा लगाव था। घर लौटते ही जया उनसे लिपट जाती थी। वह उनके आगे -पीछे ही घूमती रहती थी। इधर कुछ दिनों से जया ने अपनी मालकिन को नहीं देखा था इसलिए वह परेशान रहती थीं। जिस समय परिजन डॉ. अनीता का शव लेकर घर पहुंचे उस समय जया चौथी मंजिल पर थी। भीड़ और मालकिन का शव देखकर जया खुद को रोक नहीं पाई और उसने छलांग लगा दी। परिजन जया को लेकर डॉक्टर के पास गए लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई थी। ऊंचाई से कूदने से उसकी रीढ़ की हड्डी टूट गई थी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios