Asianet News HindiAsianet News Hindi

भगवान राम के नाम पर राजनीति जारी, स्वतंत्र देव सिंह ने कहा- जो राम को नकारते थे, वो जा रहे मंदिर

सपा जब सत्‍ता में होती है तो उनकी हर योजना सिर्फ वंशवाद के लिए होती है। एक परिवार और एक कुनबे के लिए होती है। नौकरी हो या रोजगार देने की कोई योजना हो। वो घर-परिवार के जेब में सब योजनाएं चली जाती हैं। यहां होटल बुक हो जाता है जिसमें उनके एक परिवार के लोग आकर डेरा डालते हैं और वसूली शुरू हो जाती है। 

Politics continues in the name of Lord Ram Swatantra Dev Singh said those who used to deny Ram they are going to the temple
Author
Lucknow, First Published Jan 5, 2022, 5:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के 2022 के विधानसभा चुनाव (UP Vidhansabha Chunav) को लेकर समाजवादी पार्टी (SP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) लगातार अपनी चुनावी जमीन मजबूत करने में लगे हैं। इसी कड़ी में अखिलेश यादव विजय रथ यात्रा लेकर 8 और 9 जनवरी को अयोध्या में होंगे। अखिलेश के अयोध्या दौरे को लेकर बीजेपी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यह अखिलेश यादव से पूछिए कि क्या वह वहां दर्शन करेंगे? आज कल तो टीका लोग लगा ही रहे हैं, पहले जो राम का अस्तित्व नकारते थे तो वह लोग मंदिर जा रहे हैं।

लाल टोपी वालों के झांसे में नहीं आने वाली जनता
बीजेपी की जनविश्‍वास यात्रा के समापन के मौके पर भाजपा अध्‍यक्ष ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि जनता लाल टोपी वालों के झांसे में नहीं आने वाली। वो सपा, बसपा, कांग्रेस का कुशासन देख चुकी है। उनकी कैसी हरकतें होती हैं और वे सरकार कैसे चलाते हैं इसे बच्‍चे बच्‍चे ने देखा है। अभी भी उस दहशत की याद बरकरार है। अखिलेश जी को आजकल सपने बहुत आ रहे हैं। सपना देखना भी कोई बुरी बात नहीं है लेकिन दिवा स्‍वप्‍न कभी सच नहीं होते। सपा जब सत्‍ता में होती है तो उनकी हर योजना सिर्फ वंशवाद के लिए होती है। एक परिवार और एक कुनबे के लिए होती है। नौकरी हो या रोजगार देने की कोई योजना हो। वो घर-परिवार के जेब में सब योजनाएं चली जाती हैं। यहां होटल बुक हो जाता है जिसमें उनके एक परिवार के लोग आकर डेरा डालते हैं और वसूली शुरू हो जाती है। 

पर्सनल लॉ बोर्ड को दी युवाओं को प्रोत्साहित करने की सलाह
उन्होंने कहा कि मुस्लिम युवाओं के आइकन मुहम्मद शमी और मुहम्मद कैफ को जब इसमें कोई बुराई नहीं दिखती है तो बोर्ड को इस मामले में नहीं पड़ना चाहिए। बोर्ड को इसमें धर्म के नाम का पर्दा हटा देना चाहिए। उसे युवाओं को बेहतर-अनुशासित जीवन शैली के लिए योगासन और सूर्य नमस्कार को प्रोत्साहित करने के लिए कदम उठाना चाहिए। 

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर बोले BJP प्रदेश अध्यक्ष- कांग्रेस को चुनावी लाभ देने के लिए उनका भोपू बन रहा बोर्ड

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios