Asianet News HindiAsianet News Hindi

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में ABVP के कार्यकर्ताओं ने उठाया बड़ा कदम, फीस वृद्धि के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन जारी

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ छात्रों का लगातार प्रदर्शन जारी है। इसी बीच अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को यूनिवर्सिटी के सभी गेटों पर तालाबंदी कर दी और अपनी मांगों को पूरा करने पर अड़े हुए है।

Prayagraj ABVP took big step Allahabad University students protest against fee hike continues
Author
First Published Sep 26, 2022, 1:33 PM IST

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश की संगम नगरी में इलाहाबाद विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि को लेकर छात्रों का प्रदर्शन लगातार जारी है। छात्रों के द्वारा आंदोलन समय के साथ उग्र होता जा रहा है। यूनिवर्सिटी की फीस को लेकर छात्रों का कहना है कि जब तक बढ़ी हुई फीस को वापस नहीं लिया जाता उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। पिछले 15 दिनों से छात्र इस मांग के साथ आंदोलन कर रहे हैं। इसी बीच अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को विश्वविद्यालय के सभी गेटों पर तालाबंदी कर दी। इतना ही नहीं सेंट्रल लाइब्रेरी में भी तालाबंदी की गई है। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने ताला तुड़वाकर यूनिवर्सिटी को खुलवाया। 

पुलिस ने गेट खुलवाकर छात्रों को किया अंदर
पुलिस के द्वारा यूनिवर्सिटी को खुलवाने पर पुलिस और छात्रों में जमकर झड़प भी हुई। फीस वृद्धि की वापसी की मांग कर रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता यूनिवर्सिटी के गेट नंबर एक के सामने पोस्टर बैनर लेकर प्रदर्शन पर भी बैठ गए है। एबीवीपी के कार्यकर्ता लगातार नारेबाजी करते हुए चार गुना फीस बढ़ी फीस वापस लेने की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा एबीवीपी कार्यकर्ताओं की अन्य दस सूत्रीय मांगे भी हैं, जिसको पूरा करने की मांग हो रही है। यूनिवर्सिटी के गेट में तालाबंदी होने की वजह से छात्र अंदर नहीं जा पा रहे थे। इस वजह से छात्र-छात्राएं विश्वविद्यालय के गेटों के बाहर ही खड़े रहे। उसके बाद ही भारी फोर्स के साथ पहुंची पुलिस ने गेट खुलवाकर छात्रों को अंदर दाखिल करवाया।

31 अगस्त की बैठक में लिया गया था फैसला
विश्वविद्यालय में गेटबंदी से छात्रों को भले ही दिक्कत हो रही है लेकिन कहीं न कही दबे स्वर में छात्र भी तालाबंदी का समर्थन कर रहे हैं। छात्रों का कहना है कि उनके लिए गेट बंदी की वजह से सिर्फ एक दिन की समस्या है लेकिन अगर बढ़ी हुई फीस वापस ले ली जाती है तो तमाम छात्र-छात्राओं को  बड़ी राहत मिलेगी। आपको बता दें कि 31 अगस्त को यूनिवर्सिटी की कार्यकारी परिशद की बैठक में फीस बढ़ाने का फैसला लिया गया था। इसी के बाद से फीस वृद्धि के मुद्दे पर तमाम छात्र संगठनों का आंदोलन लगातार जारी है।

हाथरस में कलयुगी बेटे ने मां की धारदार हथियार से की हत्या, युवक ने इस मामूली बात पर दिया वारदात को अंजाम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios