Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्रयागराज: अनोखे अंदाज में मनाया आजादी का जश्न, ग्रामीणों ने बुलडोजर पर निकाली तिरंगा यात्रा

यूपी के प्रयागराज में बुलडोजर पर तिरंगा यात्रा निकाली गई है। ग्रामीणों द्वारा निकाली गई इस अनोखी यात्रा में शामिल लोगों ने कहा कि बाबा के बुलडोजर से ही प्रदेश में अपराध और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है। इसलिए उन्होंने बुलडोजर को तिरंगे से सजाया है। 

Prayagraj Celebration of independence celebrated in a unique way villagers took out tricolor yatra on bulldozer
Author
Prayagraj, First Published Aug 15, 2022, 11:27 AM IST

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश की संगम नगरी प्रयागराज में भी धूमधाम से आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। इस दौरान संगम नगरी में तमात तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। चौराहों को सजाया गया है। इसी के तहत प्रयागराज स्थित मेजा के खानपुर गांव के लोगों ने अनूठे अंदाज में तिरंगा यात्रा निकाली है। आजादी का महोत्सव मनाने के लिए बड़ी संख्या में लोग इस तिरंगा यात्रा में इकट्ठा हुए। इस दौरान ग्रामीणों ने बुलडोजर को तिरंगे से सजाया। वंदे मातरम और भारत माता के जय के नारों के साथ पूरे गांव में बुलडोजर तिरंगा यात्रा निकाली गई।

तिरंगे से सजे बुलडोजर के साथ ली सेल्फी
बुलडोजर तिरंगा यात्रा के दौरान लोग देशभक्ति के गानों पर झूमते नजर आए। साथ ही लोगों ने तिरंगे से सजे बुलडोजर के साथ सेल्फी भी खिंचवाई। ग्रामीणों के अनुसार, यह आजादी देश के न जानें कितने सपूतों के बलिदान के बाद मिली है। देश को आजाद हुए आज 75 वर्ष पूरे हो गए हैं। सभी देशवासियों के लिए यह ऐतिहासिक दिन है। इस दिन को और यादगार बनाने के लिए बुलडोजर तिरंगा यात्रा निकाली गई है। बुलडोजर पर तिरंगा यात्रा निकालने पर उन्होंने कहा कि इसी बुलडोजर द्वारा अपराधियों पर शिकंजा कसा गया है।

बुलडोजर से अपराध पर लगा लगाम 
इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि यह बाबा (सीएम योगी) का बुलडोजर है। अपराधियों में इसका इतना भय है कि आज प्रदेश में कोई भी अपराधी अपराध करने से पहले कई बार सोचता है। इसके जरिए ही अपराध और भ्रष्टाचार पर लगाम लगी है। अपराधियों में भय पैदा करने में इस बुलडोजर का महत्वपूर्ण योगदान है। बता दें कि संगम नगरी प्रयागराज में किन्नरों द्वारा भी तिरंगा यात्रा निकाली गई। सैकड़ों की संख्या में निकली किन्नरों ने हाथ में तिरंगा लेकर वंदे मातरम के नारे लगाए। किन्नरों ने यह तिरंगा यात्रा किन्नर कल्याण बोर्ड की मेंबर कौशल्या नंद गिरि के नेतृत्व में निकाली थी। हनुमान मंदिर से निकली यह यात्रा सुभाष चौक पर खत्म हुई। इस दौरान किन्नर देशभक्ति गीतों पर झूमते नजर आए।

गोरखपुर में स्वतंत्रता दिवस पर बनेगा अनोखा रिकॉर्ड, इतने लोग एक साथ मिलकर गाएंगे राष्ट्रगान
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios