Asianet News Hindi

राम मंदिर पर बड़ा ऐलान: 10 जून से रुद्राभिषेक के साथ शुरू होगा मंदिर निर्माण

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा है कि राम मंदिर का कार्य प्रारंभ है। भगवान रामेश्वरम की स्थापना कर अभिषेक 10 जून को होगा। सुबह 8:00 बजे से कितने ब्राह्मण लगेंगे यह कोई महत्व नहीं है। हम लोग बैठक पूजा करेंगे। 

Ram temple construction will begin in Ayodhya from June 10 with Rudrabhishek of Lord Shiva ASA
Author
Ayodhya, First Published Jun 7, 2020, 5:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अयोध्या (Uttar Pradesh) । रामजन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण को लेकर तैयारी पूरी की जा चुकी है। मंदिर निर्माण की प्रक्रिया के लिए परिसर में धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन 10 जून को किया जाएगा। यह आयोजन परिसर में पूजन को आरंभ करेंगे। इसके बाद मंदिर निर्माण कार्य शुरू होगा। मान्यता है कि भगवान राम ने लंका पर विजय प्राप्ति से पहले भगवान शिव की स्थापना कर अभिषेक किया था। इसलिए मंदिर निर्माण से पहले भगवान शशांक शेखर का पूजन किया जाएगा। बता दें कि इस समय परिसर में समतलीकरण का कार्य चल रहा है, जिसके बाद फाउंडेशन बनाए जाने की तैयारी है। इसे लेकर एलएंडटी कंपनी के अधिकारियों ने परिसर में डेरा डाल दिया है।

इस तरह होगा अनुष्ठान 
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा है कि राम मंदिर का कार्य प्रारंभ है। भगवान रामेश्वरम की स्थापना कर अभिषेक 10 जून को होगा। सुबह 8:00 बजे से कितने ब्राह्मण लगेंगे यह कोई महत्व नहीं है। हम लोग बैठक पूजा करेंगे। सुबह 8:00 बजे से हमलोग खुद अभिषेक करेंगे। राम मंदिर निर्माण को शुरू करने के लिए यह पूजा अनुष्ठान होगा। मंदिर भव्य बनाने के लिए यह पूजा होगा।

मुख्य पुजारी ने कही ये बातें
आचार्य सत्येंद्र दास जो अब तक राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी हैं, उनका कहना है कि भगवान शिव की पूजा करने के बाद मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। वैसे मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है, फिर भी उनकी जो आराधना है, वह जो अनुष्ठान करने जा रहे हैं वह बहुत अच्छा है और सुयोग्य है, बहुत अच्छी बात है। उन्होंने कहा, वैसे 25 मार्च से श्री राम लला अस्थाई मंदिर में स्थापित हुए हैं। लेकिन, जहां वे पहले विराजमान थे, वहां पर निरंतर पूजा होती आई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios