Asianet News HindiAsianet News Hindi

पैरामिलिट्री फोर्स के हाथ में UP विधानसभा चुनाव की सुरक्षा, जानिए पूरी डिटेल

पुलिस कंपनियों को जिलों में पुलिस विधानसभावार तैनात करेगी। प्रदेश में पिछले चुनाव में 300 कंपनी केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल तैनात किया गया था। माना जा रहा है कि केंद्र से जल्द ही और अर्द्धसैनिक बल प्राप्त होगा।

Security of UP assembly elections in the hands of paramilitary force know full details
Author
Lucknow, First Published Jan 8, 2022, 12:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ:  केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों (UP Assembly Election) की सुरक्षा के पहले चरण के लिए 150 कंपनी अर्द्धसैनिक बलों (Paramilitary Force) की तैनाती करने का फैसला किया है। 10 जनवरी से  इन सुरक्षा बलों को पहले चरण के जिलों में तैनात किया जाएगा। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि केंद्र ने जो 150 कंपनी अर्द्धसैनिक बल दिए हैं, उनमें से 50 कंपनी सीआरपीएफ (CRPF), 30 कंपनी बीएसएफ (BSF), 20 कंपनी सीआईएसएफ (CISF) और 20 कंपनी आईटीबीपी (ITBP) की होंगी।

पुलिस कमिश्नरेट में संवेदनशीलता एवं आवश्यकता के अनुसार सभी 78 जिलों को इन कंपनियों को आवंटित कर दिया गया है। इन केंद्रीय पुलिस बल को स्थानीय पुलिस बल के साथ फ्लैग मार्च करने को कहा गया है ताकि लोग सुरक्षा महसूस कर सकें। इस पुलिस कंपनियों को जिलों में पुलिस विधानसभावार तैनात करेगी। प्रदेश में पिछले चुनाव में 300 कंपनी केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल तैनात किया गया था। माना जा रहा है कि केंद्र से जल्द ही और अर्द्धसैनिक बल प्राप्त होगा।

प्रयागराज में लगी सबसे ज्यादा कंपनी
इन सीआरपीएफ की कंपनियों को सभी 78 जनपदों, कमिश्नरेट को संवेदनशीलता एवं आवश्यकता के अनुसार आवंटित कर दिया गया है। जनपदों के पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी अपने जनपद के पुलिस बल को लगाकर विधानसभा चुनावों को देखते हुए एरिया डॉमिनेशन हेतु फ्लैग मार्च करवाएंगे। जिससे लोगों में सुरक्षा का अहसास हो और चुनाव प्रक्रिया के शांतिपूर्ण व भयमुक्त वातावरण में सम्पन्न होने का विश्वास कायम रहे। लखनऊ, आगरा, अलीगढ़, गोरखपुर, वाराणसी व कानपुर में तीन कंपनी को लगाया गया है। वहीं प्रयागराज में सबसे ज्यादा चार कंपनी को लगाया गया है।

चुनाव से पहले  गंगा एक्सप्रेस वे के निर्माण की तैयार तेजी
उत्तर प्रदेश में योगी सरकार (yogi government) आने के बाद केंद्र और राज्य सरकार के समन्वय से प्रदेश के भीतर तेजी के साथ कई एक्सप्रेस वे, एयरपोर्ट्स, अस्पतालों का निर्माण कराया गया। इस बीच अब यूपी विधानसभा चुनाव की तारीख बेहद करीब आ चुकी है। इससे पहले मेरठ-प्रयागराज गंगा एक्सप्रेस वे (ganga express way) के निर्माण की तैयारी भी अब तेज हो गई है। आपको बता दें कि मेरठ में हापुड़ रोड स्थित बिजौली से गंगा एक्सप्रेस वे की शुरुआत होनी है। चयनित निर्माण एजेंसी की ओर से मिट्टी जांच का काम पूर्ण कर लिया गया है। अब जल्द ही सही मौके पर निर्माण कार्य होगा। संभावना है कि अगले सप्ताह मकर संक्रांति (Makar sankranti) से गंगा एक्सप्रेस वे का काम शुरू हो जाएगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios