लखनऊ(Uttar pradesh ). अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन गैंग के शार्प शूटर खान मुबारक को लखनऊ जेल से अब हरदोई जेल शिफ्ट किया गया। पहले उसे सीतापुर जेल में शिफ्ट करने की प्लांनिंग थी लेकिन सीतापुर में आजम खान व उनके परिवार के बंद होने से उसे हरदोई जेल शिफ्ट किया गया है। आजम खान व उनके परिवार की सुरक्षा को देखते हुए ये फैसला लिया गया। 

उत्तर प्रदेश शासन ने लखनऊ जेल में बंद माफिया डॉन छोटा राजन गिरोह के शार्प शूटर खान मुबारक को सीतापुर जेल स्थानांतरित करने का फैसला रद करते हुए अब उसे हरदोई जेल भेजा है । खान मुबारक को सीतापुर जेल इसलिए नहीं भेजा गया क्योंकि सपा सांसद आजम खां, उनकी पत्नी विधायक डॉ. तंजीन फात्मा और बेटा अब्दुल्ला इन दिनों धोखाधड़ी के मामले में  बंद हैं। माना जा रहा है कि इसके चलते सुरक्षा कारणों से खान मुबारक को लखनऊ जेल से हरदोई जेल स्थानांतरित किया गया है ।

2017 में गिरफ्तार हुआ था खान मुबारक 
खान मुबारक को यूपी STF ने जुलाई 2017 को लखनऊ के पीजीआइ क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। तब उसके पास से कई आधुनिक असलहे भी मिले थे। खान मुबारक अंडर वर्ल्ड डॉन छोटा राज गैंग का मुख्य हिस्सा था। वह ज्यादात मुम्बई व उत्तर प्रदेश में इस गैंग की गतिविधियों को संचालित करता था। उसके खिलाफ अपहरण, हत्या व अन्य संगीन धाराओं में दर्जनों मुकदमे दर्ज हैं। 

IG STF ने की थी खान मुबारक की जेल शिफ्टिंग की संस्तुति 
एक पूर्व मंत्री की हत्या की साजिश रचने और जेल में हर सुविधाएं मिलने का वीडियो वायरल कर चर्चा में रहे माफिया मुबारक खान को लखनऊ जेल से सीतापुर जेल भेजने का प्लान बनाया गया था। । एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश की संस्तुति पर शासन ने यह आदेश जेल प्रशासन को भेजा था। जिसके बाद उसे हरदोई जेल शिफ्ट किया गया है। 

मुबारक के बड़े भाई जफर सुपारी ने कराई थी छोटा राजन से मुलाकत 
खान मुबारक मूलतः यूपी के अम्बेडकरनगर का रहने वाला है। वह इलाहबाद विश्विद्यालय का छात्र था अजब उसने पहली हत्या की थी। उसके बाद वह अपने भाई जफर सुपारी के पास मुम्बई भाग गया। जफर सुपारी भी छोटा राजन के लिए काम करता था। उसे ने खान मुबारक की छोटा राजन से पहली बार मुलाकात कराई थी। इसके बाद वह छोटा राजन का विश्वासपात्र बन गया और उसके इशारे पर हत्या व रंगदारी जैसे अपराध करने लगा।