Asianet News HindiAsianet News Hindi

धरने से पहले नजरबंद किए गए सपा विधायक, अभिषेक मिश्रा ने कहा- अब भाजपा तय करेगी कौन घर से निकलेगा कौन नहीं

समाजवादी पार्टी के तमाम विधायक और नेताओं को घर में नजरबंद कर दिया गया है। सपा की ओर से 14 सितंबर से 18 सितंबर तक विधानसभा के बाहर धरने का ऐलान किया गया था। उससे पहले ही पुलिस ने तमाम नेताओं को नजरबंद कर दिया। 

SP MLA under house arrest before the protest Abhishek Mishra said now BJP will decide who will come out of the house
Author
First Published Sep 14, 2022, 10:45 AM IST

लखनऊ: समाजवादी पार्टी की ओर से धरना देने के ऐलान के बाद सपा विधायकों को नजरबंद कर दिया गया है। उनके आवास के बाहर फोर्स तैनात कर दी गई है। विधायक रविदास मेहरोत्रा की ओर से बताया गया कि उनके आवास पर सुबह 5 बजे से ही पुलिस पहुंच गई। यहां तक उन्हें मॉर्निंग वॉक के लिए भी नहीं जाने दिया गया। उन्होंने कहा कि सरकार तानाशाही पूर्ण रवैया अपना रही है और यह उचित नहीं है। वहीं सपा की ओर से ट्वीट कर विधायकों के आवास के बाहर फोर्स लगाए जाने के निर्णय की आलोचना की गई। 

'अब भाजपा तय करेगी कौन घर से निकलेगा'
समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता और पूर्व विधायक अभिषेक मिश्रा की ओर से कहा कि 'सुबह तकरीबन साढ़े सात बजे से ही आवास के बाहर भी पुलिस फोर्स तैनात है। अपनी बात रखने और  विधानसभा जाने तक की इजाजत नहीं है तो यह कैसा लोकतंत्र है। अब भाजपा तय करेगी कि कौन घर से निकलेगा कौन नहीं निकलेगा तो फिर देश में कानून का राज कहा बचा। यह लोकतंत्र का घोर अपमान है।' गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी की ओर से घोषणा की गई थी कि 14 सितंबर से 18 सितंबर के बीच में रोजाना सपा विधायक दो घंटे यूपी विधानसभा के बाहर धरना देंगे। यह धरना महंगाई, लेवाना होटल में लगी आग, कानून व्यवस्था और उत्पीड़न जैसे मामलों को लेकर होगा। इसको लेकर बीजेपी को घेरने का प्रयास किया जाना है। हालांकि इससे पहले ही 14 सितंबर की सुबह सपा विधायकों को उनके घरों में नजरबंद कर दिया गया। उनके आवास के बाहर सुबह से ही पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई। निर्धारित कार्यक्रम के तहत विधायक सुबह 11 बजे से 1 बजे तक धरना देने वाले थे। हालांकि विधायकों ने बताया कि सुबह 5-6 बजे से ही उनके आवास पर पुलिस फोर्स पहुंच गई और उन्हें बाहर ही नहीं निकलने दिया गया। 

18 सितंबर तक चलना था 2 घंटे का धरना
समाजवादी पार्टी की मुख्य सचेतक डॉ मनोज पाण्डेय के द्वारा 13 सितंबर को बताया गया था कि बुधवार 14 सितंबर से सरकार की गलत नीतियों का विरोध 2 घंटे के धरने के दौरान होगा। इसके बाद माना जा रहा था कि 19 सितंबर से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र में भी हंगामा देखने को मिलेगा। हालांकि सपा विधायकों का धरना शुरू होता उससे पहले ही पुलिस उनके आवास पर पहुंच गई। इस दौरान किसी के भी विधायकों के आवास के अंदर जाने को लेकर भी मनाही की गई। पुलिस ने न ही विधायकों को बाहर आने दिया और न ही किसी को भी उनके आवास के अंदर दाखिल होने की इजाजत दी। 

यूपी में मॉनसून सत्र से पहले अखिलेश का एक्शन, रोज 2 घंटे विधानसभा के बाहर धरना देंगे सपा विधायक

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios