Asianet News HindiAsianet News Hindi

सपा सांसद एसटी हसन ने कहा- लखीमपुर कांड के आरोपितों को जमीन में गाड़कर मारा जाए पत्थर

सपा सांसद एसटी हसन ने लखीमपुर कांड को लेकर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मामले में मुस्लिम आरोपितों को शरीयत के अनुसार ही कठोर सजा दी जाए। उन्हें जमीन में गाड़कर पत्थर से मारा जाए। 

SP MP ST Hasan said that accused of Lakhimpur incident should be buried in ground and stoned
Author
First Published Sep 18, 2022, 1:06 PM IST

मुरादाबाद: समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ. एसटी हसन ने लखीमपुर खीरी में सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड लेकर बयान दिया। उन्होंने कहा कि यदि आरोपित शादीशुदा है तो उन्हें जमीन के अंदर गाड़कर पत्थरों से मारा जाए। उन्होंने यह भी कहा कि शरीयत के अनुसार जिन देशों में कठोर सजा दी जाती हैं वहां दुष्कर्म की घटनाएं नहीं होती। इसको लेकर उन्होंने सऊदी अरब का उदाहरण भी दिया।

एसटी हसन ने कहा शरीयत के अनुसार मिले कठोर सजा
सांसद डॉ एसटी हसन ने अपने बयान में कहा कि कड़ी सजा मिलने से आगे कोई बेटियों के साथ दुष्कर्म की हिम्मत नहीं कर सकेगा। रोजाना अखबारों में इस तरह की घटनाएं देखने को मिल रही है लेकिन कोई कठोर कदम नहीं उठाया जाता। बेटियां कहीं भी सुरक्षित नहीं है। दुष्कर्म और हत्या के मामले में उन्होंने कठोर कानून बनाए जाने की आवश्यकता बताई। सांसद ने कहा कि शरीयत में दुष्कर्म और हत्या के मामले में शादीशुदा आरोपितों को जमीन में गाड़कर पत्थर मार जान से मारने की सजा दी जाती है।  डॉ एसटी हसन ने बोला कि यह घिनौना अपराध है। इन सभी को शरीयत के अनुसार ही सजा दी जानी चाहिए। 

घटना को अंजाम देने से पहले किया गया था किशोरियों का अपहरण
गौरतलब है कि बुधवार को यूपी के लखीमपुर खीरी अंतर्गत निघासन में अनुसूचित जाति की दो किशोरियों की हत्या सामूहिक दुष्कर्म के बाद की गई। इस वारदात को अंजाम देने से पहले किशोरियों का उनके घर के बाहर से ही अपहरण किया गया था। जंगल में दोनों के शव पेड़ से लटके मिले थे। मृतक बहनों की उम्र 13 औस 17 साल की थी। मामले को लेकर पुलिस ने बताया था कि दोनों लड़कियां अपनी मर्जी से उनके साथ गई थी। आरोपित लड़कियों को पहले से जानते थे। इसी के साथ पुलिस ने मामले को दुष्कर्म के बाद हत्या बताया था। मामले में 6 आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया है। 

सुल्तानपुर: 8 माह के अनमय को फ्री में लगेगा 16 करोड़ का इंजेक्शन, लंबे समय से जुटाया जा रहा था चंदा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios