शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश ). लॉ की छात्रा द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे स्वामी चिन्मयानंद की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। मंगलवार को सोशल साइट्स पर स्वामी चिन्मयानंद की कुछ आपत्तिजनक तस्वीरें व वीडियो वायरल किया गया । जानकारों की माने तो ये तस्वीरें किसी वीडियो से निकाली गयी लग रही हैं। इसमें स्वामी एक छात्रा से मसाज करवा रहे हैं। वीडियो 5 वर्ष पूर्व का बताया जा रहा है। एसएस लॉ कॉलेज की एलएलएम की छात्रा ने स्वामी पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। 

मामले की जांच करने पहुँची एसआईटी ने खंगाला हॉस्टल का कमरा 
 मंगलवार को प्रकरण की जांच करने शाहजहांपुर पहुंची एसआइटी ने छात्रा के हॉस्टल का कमरा खुलवाया। एएसएस कॉलेज में एसआइटी ने टीम ने हॉस्टल में छात्रा के कमरे की गहनता से पड़ताल  किया। इसके आलावा एसआईटी ने मामले को लेकर कई लोगों से पूंछताछ भी किया। 
 
ख़ुफ़िया कैमरे से बनाया गया  है वीडियो 
चर्चाओं पर गौर करें तो कहा ये जा रहा है कि सोशल साइट्स पर वायरल स्वामी का यह वीडियो 2014 में बनाया गया था । वायरल वीडियो के स्क्रीन शॉट में दिखाया गया है कि स्वामी चिन्मयानंद अपने मोबाईल में कुछ टाइप कर रहे हैं,और एक महिला उनके तलवे में मालिश कर रही है। इसके अलावा कभी पेट और कभी सिर की मालिश करते हुए तस्वीर वायरल की गई है। 
 
स्वामी के वकील का बयान, पूरी तरह फर्जी है वीडियो 
सोशल साइट्स पर वायरल किये गए स्वामी चिन्मयानंद के वीडियो को उनके वकील ओम सिंह ने फर्जी बताया है। उनका कहना है कि ये वीडियो और फोटो कम्प्यूटर पर  एडिट करके स्वामी जी की लोकप्रियता खराब करने के लिए वायरल की जा रही है। एसआईटी पूरे मामले की जांच कर रही है। जल्द ही इस धोखाधड़ी से पर्दा उठ जाएगा। 
 
 एसपी बोले वायरल वीडियो की जानकारी नहीं 
सोशल मीडिया पर वायरल मीडिया के बारे में एसपी शाहजहांपुर डॉ. एस चन्नप्पा का कहना है कि वीडियो मेरे संज्ञान में नहीं है। इस संबंध में किसी के द्वारा कोई शिकायत भी नहीं की गयी है। मामले की जांच एसआईटी कर रही है। इस पर एसआईटी टीम ही कुछ बता सकती है।