अलीगढ़ (Uttar Pradesh) । सीएए के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुए बवाल में गोली लगने से घायल तारिक की मौत हो गई। उसे जेएन मेडिकल कॉलेज में दाखिल कराया गया था। घटना की सूचना मिलने के बाद मेडिकल कॉलेज में जिले के पुलिस प्रशासन ने अलर्ट घोषित कर दिया है। जगह-जगह पुलिस बल तैनात हो गई है। मृतक तारिक के पिता ने शहरवासियों से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही जिला प्रशासन से आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की है। 

ये था पूरा मामला
ऊपरकोट कोतवाली पर महिलाओं का प्रदर्शन चल रहा था। इसी दौरान प्रदर्शनकारी महिलाओं ने पुलिस पर पथराव कर दिया था। इसके बाद पुलिस और इलाके के तमाम लोग आमने-सामने आ गए। पुलिस पर पथराव किए गए और वहां आगजनी की घटना को भी अंजाम दिया गया था। इस दौरान पुलिस ने भी बल प्रयोग कर सभी को खदेड़ दिया। बाबरी मंडी में दोनों ही पक्ष के कई लोग पथराव व गोली लगने से घायल हो गए थे। इनमें तारिक नाम का युवक भी शामिल था। तारिक का उपचार 23 फरवरी से ही जेएन मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। 

जेल भेजे जा चुके हैं पांच लोग
जिला प्रशासन द्वारा आर्थिक मदद भी दी गई। इसी दौरान देर रात तक बवाल में आरोपी बनाए गए विनय वार्ष्णेय को पुलिस प्रशासन ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। वहीं, पांच अन्य युवक भी गिरफ्तार कर अगले दिन जेल भेजे गए थे।

एसपी सिटी ने कही ये बातें
एसपी सिटी अभिषेक कुमार का कहना है कि तारिक़ के गोली लगने की घटना को लेकर परिवार द्वारा तीन लोगों के विरुद्ध नामज़द मुकदमा दर्ज कराया गया था। इनमें से विनय वार्ष्णेय को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। अन्य के विरुद्ध भी साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।