Asianet News Hindi

पुलिस के सामने हत्यारे ने कहा, जेल से छूटकर आते ही करूंगा एक और कत्ल, ये है पूरा मामला

गिरफ्तार हुए आरोपी ने कहा कि उसे हत्या करने का कोई पछतावा नहीं है। उसने बताया कि वह उस रात गौरव की हत्या करने आया था, क्योंकि गौरव ने उसके घर परिवार की जिंदगी बर्बाद कर दी। उसकी हंसती-खेलती जिंदगी में गौरव ने जहर घोल दिया था। जिस वजह से उसकी पत्नी ने आत्महत्या कर ली थी। 
 

The killer said in front of the police, I will do one more murder after coming out of jail asa
Author
Jalaun, First Published Feb 10, 2020, 6:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जालौन (Uttar Pradesh)। एक हत्यारोपी ने पुलिस के सामने ही एक और कत्ल करने के इरादे को धमकी देते हुए बता दिया। हालांकि उसे पुलिस ने चार दिन पहले हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन आरोपी को हत्या करने का कोई पछतावा नहीं है और वह खुलेआम पुलिस के सामने धमकी देता हुआ नजर आया। उसने कहा कि जिस दिन वह जेल से छूटकर आएगा, उस दिन वह खुलेआम एक और कत्ल करेगा।

कुल्हाडी से मारकर की थी हत्या
एसपी डॉ सतीश कुमार ने हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि 6 फरवरी को कदौरा थाना क्षेत्र के ग्राम हांसा में रामप्रसाद कुरील की कुल्हाड़ी से मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के खुलासे के लिए सर्विलांस व स्वाट टीम को लगाया गया था। वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी धर्मेंद्र अहिरवार पुत्र कैलाश को हमीरपुर मार्ग स्थित मुमताजाबाद को जाने वाले मार्ग से गिरफ्तार किया गया।

दूसरी शादी करना चाहता था आरोप
एसपी बताया कि आरोपी धर्मेंद्र दूसरी शादी करना चाहता था, जिसके लिए धर्मेंद्र की पहली पत्नी के चाचा राम प्रसाद ने मना किया था। राम प्रसाद के मना करने पर धर्मेंद्र ने आवेश में आकर उनके ऊपर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। ईलाज के दौरान मौत हो गई थी। 

हत्यारोपी ने कहा नहीं है कोई पछतावा
गिरफ्तार हुए आरोपी ने पुलिस के सामने कहा कि उसे हत्या करने का कोई पछतावा नहीं है। उसने बताया कि वह उस रात गौरव की हत्या करने आया था, क्योंकि गौरव ने उसके घर परिवार की जिंदगी बर्बाद कर दी। उसकी हंसती-खेलती जिंदगी में गौरव ने जहर घोल दिया था। जिस वजह से उसकी पत्नी ने आत्महत्या कर ली थी। 

इस वजह से की राम प्रसाद की हत्या
हत्यारोपी ने पुलिस के सामने कहा कि अपना बदला लेने के लिए वह 6 फरवरी की रात को गौरव की हत्या करने के लिए गया था, लेकिन बीच में रामप्रसाद के आ जाने से उसकी हत्या हो गई। उसने कहा कि उसे हत्या करने का कोई पछतावा नहीं है। वह पुलिस के सामने खुलेआम बेबाक होकर बोलता रहा कि जिस दिन वह जेल से छूटकर आएगा उस दिन वह गौरव को घर में घुसकर गोली मारेगा। उसे कोई भी उसे रोक नहीं पाएगा। उसने कहा कि अगर उसे पहले ही तमंचा मिल जाता तो उसी रात वह गौरव की गोली मारकर हत्या कर देता।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios