Asianet News HindiAsianet News Hindi

फिर फेल हुई बांके बिहारी मंदिर की व्यवस्थाएं, बढ़ी भीड़ के बीच जान जोखिम में डाल रेलिंग कूदते नजर आए लोग

यूपी के मथुरा के वृंदावन में स्थित प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में एक बार फिर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के चलते सारी व्यवस्थाएं फेल हो गईं। इस दौरान मंदिर दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालुओं को परेशानियों का सामना करना पड़ा। महिला श्रद्धालुओं को रेलिंग फांदकर बाहर निकाला गया।

Then arrangements of Banke Bihari temple failed people were seen jumping railing risking their lives amid increased crowd
Author
First Published Nov 7, 2022, 4:57 PM IST

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले वृंदावन में स्थित बांके बिहारी मंदिर में एक बार फिर भीड़ अनियंत्रित हो गई। भीड़ को नियंत्रित करने की सारी व्यवस्थाएं फेल होती नजर आ रही हैं। जिसका खामियाजा मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को भुगतना पड़ रहा है। सोमवार सुबह हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ बांके बिहारी मंदिर में दर्शन के लिए पहुंची थी। भीड़ का दबाव इतना अधिक था कि पुलिस द्वारा की गई सारी व्यनस्थाएं फेल हो गईं। इस दौरान महिला श्रद्धालु रेलिंग फांदकर बाहर निकलने के लिए मजबूर थीं। बांके बिहारी मंदिर की तरफ जाने वाली गलियों में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखने को मिली।

घायल श्रद्धालुओं का किया गया इलाज
वहीं बीते रविवार को भी मंदिर का हाल कुछ ऐसा ही रहा। ठाकुर बांके बिहारी मंदिर दर्शन के लिए आए पांच से अधिक श्रद्धालु इस दौरान घायल हो गए। भीड़ में दबाव के चलते कुछ श्रद्धालुओं की तबियत भी बिगड़ गई। इसके बाद वहां पर मौजूद चिकित्सकों ने घायल श्रद्धालुओं का इलाज किया। प्रशासन की लापरवाही और उदासीनता के कारण ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। मंदिर में किसी पर्व या साप्ताहांत के दिनों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती थी। देव दीपावली के दिन भी मंदिर में भारी भीड़ उमड़ी थी।

कई बार बिगड़े हैं हालात
भारी भीड़ के कारण बच्चों और बुजुर्ग श्रद्धालुओं का बुरा हाल हो गया। वहीं मंदिर परिसर में तैनात पुलिसकर्मी और सुरक्षाकर्मी इस दौरान भीड़ को नियंत्रित करने की कोशिश करते रहे। लेकिन इसके बाद भी हालात में कोई खास सुधार नहीं दिखाई दिया। मंदिर खुलने से पहले ही मंदिर के अंदर और बाहर भक्तों की भीड़ अपने आराध्य के दर्शन करने की अभिलाषा के साथ पहुंच गए थे। भारी तादात में भक्तों की भीड़ देखकर मंदिर परिसर में मौजूद पुलिसकर्मी और सुरक्षाकर्मियों के हाथ-पैर फूल गए। बताते चलें कि भीड़ के चलते कई बार पहले भी हालात बिगड़ चुके हैं। वहीं कानपुर की शोभा दीक्षित, 70 वर्षीय सुभाष चंद्र, रेनू शर्मा, देवांशी और पुनता शर्मा घायल हो गईं।

2 भीषण सड़क हादसे: बाड़मेर में 2 BSF जवानों की मौत, मथुरा यमुना एक्सप्रेस वे पर 4 की गई जान

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios