Asianet News Hindi

रेप के बाद तीन साल की बच्ची की हत्या, बोरे में भरकर शव अपने आंगन में रखा, ऐसे खुला राज

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आरोपी भी अपने गुनाहों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहा था। वह रात में शव को ठिकाने लगाता, लेकिन देर शाम ही मामला तूल पकड़ लिया, जिसके कारण वह भी बच्ची की तलाश कर रहा था, मगर बच्ची के परिजन जैसे ही उसके घर की ओर गए वो भाग खड़ा हुआ।

Three year old girl murdered, stuffed in sack and kept the dead body in the courtyard, such an open secret asa
Author
Sitapur, First Published Feb 11, 2020, 9:49 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सीतापुर (Uttar Pradesh) । महोली कोतवाली क्षेत्र में एक शख्स ने मानवता की सारे हदें पार कर दी। मानव से दरिंदे बने इस शख्स ने तीन साल की मासूम बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी। इसके बाद उसके शव को बोरे में बंद कर अपने घर के आंगन में रख दिया और उसे तसला से ढग दिया। दो घंटे की तलाशी के बाद लापता बच्ची का शव घर से 50 मीटर दूर दरिंदे के आंगन में चप्पल की निशानदेही पर मिला। 

दरिंदा भी खोज रहा दिखाने के लिए बच्ची
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आरोपी राजू भी अपने गुनाहों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहा था। वह रात में शव को ठिकाने लगाता, लेकिन देर शाम ही मामला तूल पकड़ लिया, जिसके कारण वह भी बच्ची की तलाश कर रहा था, मगर बच्ची के परिजन जैसे ही उसके घर की ओर गए वो भाग खड़ा हुआ। हालांकि रात करीब 10:30 बजे ग्रामीणों ने उसके घर के बाहर प्रदर्शन किया और घर के बाहर पड़े टीन शेड को क्षतिग्रस्त करने का प्रयास किया देर शाम तक गांव में तनाव का माहौल था। गांव में पुलिस बल तैनात था।

घर के बाहर खेल रही थी मासूम
मृतका की दादी ने बताया कि सोमवार की शाम करीब 6 बजे उनकी पोती घर के बाहर खेल रही थी। इसी दौरान अचानक वह गायब हो गई। परिवारजन ने ग्रामीणों के साथ बच्ची को काफी तलाशा, लेकिन कुछ पता नहीं चला।

इस तरह मिला शव
कुछ ग्रामीणों ने बच्ची को घर से करीब 50 मीटर दूर एक व्यक्ति के घर के बाहर देखने की बात कही। इसपर परिजन घर के अंदर गए तो बच्ची की चप्पल मिल गई। इस पर ग्रामीणों ने अनहोनी की आशंका जाहिर की और उसे घर के अंदर ढूंढना शुरू किया। इस दौरान आंगन के कोने में एक बोरी में बच्ची का शव मिला जिस पर ऊपर से तसला ढका हुआ था।

हाइवे किया जाम
ग्रामीणों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। गांव से एक किलोमीटर दूर रिछाही पुलिस चौकी है, लेकिन एक घंटा बीत जाने के बाद भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। बच्ची के परिवारीजन बच्ची के खून से लथपथ शव को लेकर महोली सीएचसी पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस दौरान सीएचसी पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। नहीं, पुलिस के मौके पर न जाने से नाराज ग्रामीणों ने सीतापुर-बरेली नेशनल हाईवे पर जाम लगा दिया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios