इटावा(Uttar Pradesh). यूपी के इटावा के थाना बकेवर से सनसनीखेज वारदात सामने आई है। यहां दो बेटों ने जमीन के लालच में पिता को गोलियों से भून दिया और फरार हो गए। यही नहीं हत्यारे बेटों में से एक ने खुद ही पुलिस को फोन कर अज्ञात बदमाशों द्वारा पिता की हत्या की सूचना दी गई । लेकिन उनकी एक गलती ने पुलिस को इस केस में जरूरी सुराग दे दिया। जिसके बाद पुलिस ने दोनों हत्यारे भाइयों को उनके एक साथी समेत गिरफ्तार कर लिया।

बता दें कि 6 अगस्त को थाना बकेवर पुलिस को देवेन्द्र सिंह नामक शख्स ने सूचना दी कि मोटर साइकिल सवार 2 अज्ञात लोगों ने उसके पिता की लुधियानी आते समय गोली मारकर हत्या कर दी है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और आगे तफ्तीश शुरू की। इस वारदात से पर्दा उठाने के लिए एसएसपी आकाश तोमर ने दो टीमों का गठन किया। मामले की तफ्तीश कर रही पुलिस को जांच के दौरान ऐसी बात पता चली कि उससे पुलिस ने इस पूरे केस से पर्दा ही उठा दिया। दरअसल मृतक का उसके बेटों से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था।

जमीन का बंटवारा न करने पर बनाया खौफनाक प्लान 
गिरफ्तार आरोपी ने पूछताछ में बताया कि मृतक अपने बेटों को न तो जमीन में हिस्सा दे रहा था और न ही जमीन का बंटवारा कर रहा था। इसी वजह से दोनों बेटों ने मिलकर अपने ही पिता की हत्या की योजना बनाई थी। इस काम में दोनों भाइयों ने अपने के साथी की मदद भी ली थी। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से चोरी की एक पल्सर मोटर साइकिल, 01 तमंचा 315 बोर, 02 जिन्दा एवं 02 खोखा कारतूस बरामद किए हैं।

मुखबिर की सूचना पर हुई गिरफ्तारी 
एसएचओ बकेवर को मुखबिर ने सूचना दी कि हत्या की वारदात में शामिल मुख्य अभियुक्त इटावा की ओर से अपनी मोटर साइकिल से घुघसीना की ओर जाएगा। मुखबिर की सूचना के बाद पुलिस ने घेरबंदी शुरू दी तभी भरथना की ओर से एक मोटर साइकिल पर दो व्यक्ति आते हुए दिखाई दिए। उन्हें पुलिस ने रोकने का प्रयास किया, लेकिन वो फायरिंग करके भागने लगे। जवाबी कार्रवाई में एक गोली बाइक सवार को जा लगी, जिसके बाद पुलिस ने उसे दबोच लिया।