Asianet News HindiAsianet News Hindi

चाचा शिवपाल का अखिलेश यादव के बयान पर पलटवार, बोले- भाजपा में भेजना है तो मुझे सपा से निकाल दो

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर पटलवार करते हुए कहा है कि अगर समाजवादी पार्टी उन्हें भारतीय जनता पार्टी में भेजना चाहती है तो निकाल क्यों नहीं देती। 

Uncle Shivpal retaliated Akhilesh Yadav statement said If you want send in BJP then remove from SP Mainpuri
Author
Lucknow, First Published Apr 28, 2022, 8:43 AM IST

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व चाचा शिवपाल सिंह यादव के बीच बयानबाजी बढ़ती जा रही है। दरअसल प्रसपा अध्यक्ष ने मैनपुरी में समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के भाजपा में चले जाने वाले बयान पर सख्त प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने अखिलेश के इस बयान को गैर जिम्मेदारना करार देते हुए कहा कि अगर भारतीय जनता पार्टी में भेजना है तो मुझे सपा से निकाल देना चाहिए। 

प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव आगे कहते है कि अखिलेश यादव का गैर जिम्मेदाराना और नादानी का बयान है। समाजवादी पार्टी में 111 विधायक है। उनमें से एक मैं भी हैं। अगर समाजवादी पार्टी उन्हें बीजेपी में भेजना चाहती है तो निकाल क्यों नहीं देती। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब समय आएगा तब वे सभी को अपने फैसले के बारे में खुद जानकारी देंगे। शिवपाल इटावा समाजवादी पार्टी के दिवंगत राज्यसभा सदस्य रहे स्वर्गीय दर्शन सिंह यादव की पत्नी शकुंतला देवी के निधन पर शोक जताने आए थे। इसी दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में ये बाते कहीं। 

समाजवादियों को बैठना चाहिए था धरने पर
शिवपाल सिंह यादव ने यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान के पक्ष में भी उन्होंने खुलकर बात करते हुए कहा कि आजम खान सबसे सीनियर विधायक हैं। सांसद और राज्यसभा सदस्य भी रहे। उनके साथ जुल्म हो रहा है। जब वे लोकसभा सदस्य थे तो उनके ऊपर हो रहे जुल्म के खिलाफ समाजवादियों को लोकसभा और विधानसभा में धरने पर बैठ जाना चाहिए था। नेताजी मुलायम सिंह यादव को भी धरने में शामिल करते।

पीएम नरेंद्र मोदी नेताजी का करते सम्मान
प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह कहते है कि पूरा देश जानता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेताजी मुलायम सिंह यादव का सम्मान करते हैं। अगर नेताजी आंदोलन में शामिल होते तो जरूर आजम खां के साथ न्याय होता। आगे कहते है आज उन पर छोटे-छोटे 72 मुकदमे हैं। एक छोटे केस में चार महीने से जमानत नहीं मिल रही और फैसला रिजर्व रखा है। समाजवादियों का इतिहास रहा है जुल्म और अत्याचार के खिलाफ संघर्ष करना लेकिन यह संघर्ष अब दिखाई नहीं दे रहा है। 

बीजेपी शिवपाल को शामिल करने में न करे देर
आपको बता दें कि मैनपुरी में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की नाराजगी के सवाल पर समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि शिवपाल जी मुझसे नाराज हैं, इसका मुझे नहीं पता। भारतीय जनता पार्टी को उन्हें अपनी पार्टी में जल्द शामिल करना चाहिए। इसमें देर क्यों कर रही है। तो वहीं आजम खां के समर्थकों की नाराजगी के सवाल पर अखिलेश कहते है कि पार्टी शुरू से ही उनके साथ खड़ी रही है और आगे भी खड़ी रहेगी। कभी ऐसी जरूरत पड़ी तो वह खुद जेल में उनसे मिलने जाएंगे।

योगी सरकार की एक और बड़ी कार्रवाई, बिना इजाजत लिए लंदन घूम रही IPS अलंकृता सिंह को किया निलंबित

लखीमपुर: तिकुनिया कांड के आरोपी आशीष मिश्रा ने किया सरेंडर, सुप्रीम कोर्ट ने रद्द की थी जमानत

लखीमपुर खीरी हिंसा: जेल में बेचैनी से कटी आशीष मिश्रा की पहली रात, पहले 7 दिन इस नियम का करना होगा पालन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios