Asianet News HindiAsianet News Hindi

दो माह के बच्चे के पेट से निकला 500 ग्राम का अविकसित भ्रूण, बन गया था पेट, आंत और सिर

वाराणसी के बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के बाल सर्जरी विभाग में अनोखा मामला सामने आया है। यहां डॉक्टरों ने दो माह के बच्चे के पेट से ऑपरेशन के दौरान अविकसित भ्रूण निकाला है

undeveloped fetus from the stomach of a two month old baby
Author
Varanasi, First Published Nov 19, 2019, 6:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी(Uttar Pradesh ). वाराणसी के बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के बाल सर्जरी विभाग में अनोखा मामला सामने आया है। यहां डॉक्टरों ने दो माह के बच्चे के पेट से ऑपरेशन के दौरान अविकसित भ्रूण निकाला है। बच्चे को पेट में ट्यूमर के ऑपरेशन के लिए अस्पताल में लाया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक एक लाख बच्चों में से दो-तीन में ही इस तरह की स्थिति देखने को मिलती है।

बता दें कि चंदौली निवासी अरविंद कुमार के बच्चे के पेट का आकार काफी बड़ा था। उसने स्थानीय डॉक्टरों को दिखाया तो पेट में ट्यूमर की संभावना जताते हुए उसे बीएचयू में दिखाने की सलाह दी गई। जिसके बाद बीएचयू के डॉक्टरों ने बच्चे को देखने के बाद ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया। सोमवार शाम विभाग के प्रो. एसपी शर्मा की अगुवाई वाली टीम ने ऑपरेशन किया तो ट्यूमर तो निकला ही साथ में दाहिनी ओर से भ्रूण भी निकला। यह देख डॉक्टर भी हैरान रह गए। डॉक्टरों के मुताबिक भ्रूण का वजन लगभग 500 ग्राम था। 

अविकसित भ्रूण के बन गए थे कई अंग 
आपरेशन करने वाले डॉ एसपी शर्मा के मुताबिक इस तरह का मामला फीटस इन फिट के नाम से जाना जाता है। भ्रूण के कई अंग बन गए थे। भ्रूण के रीढ़ की हड्डी,छाती,आंत,सिर बन गए थे। अभी हांथ और पैर नहीं बन पाया था। सूत्रों की माने तो सर सुंदरलाल अस्पताल में पिछले सात-आठ साल में ऐसा यह पांचवां केस सामने आया है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios