Asianet News HindiAsianet News Hindi

JNU में बवाल पर स्मृति ने कहा- शैक्षिक संस्थानों को न बनाया जाए राजनीति का अखाड़ा

जवाहर लाल नेहरू (जेएनयू) में हुई बर्बरता को लेकर केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने इशारों इशारों में प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा- शैक्षिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा न बनाया जाए। इससे छात्रों के जीवन और विकास पर असर पड़ता है।

union minister smriti irani on jnu violence KPU
Author
Amethi, First Published Jan 6, 2020, 11:50 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अमेठी (Uttar Pradesh). जवाहर लाल नेहरू (जेएनयू) में हुई बर्बरता को लेकर केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने इशारों इशारों में प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा- शैक्षिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा न बनाया जाए। इससे छात्रों के जीवन और विकास पर असर पड़ता है। मैं आशा करती हूं कि कि राजनीतिक अखाड़ा और राजनीतिक मोहरे की तरह छात्रों को इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। बता दें, स्मृति ईरानी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंचीं, जहां उन्होंने फुरसतगंज में रैन बसेरा का उद्घाटन किया और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों से मुलाकात कर स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी ली। 

क्या है जेएनयू की घटना
रविवार देर शाम यानी 5 जनवरी को जेएनयू परिसर में छात्रों के बीच जमकर मारपीट हुई। लेफ्ट के छात्र संगठनों ने एबीवीपी पर हॉस्टल में घुसकर मारपीट करने का आरोप लगाया है। वहीं एबीवीपी ने लेफ्ट संगठनों पर। इस घटना में कई छात्रों को गंभीर चोटें आई हैं। जेएनयू की छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष के भी सर में चोट आई है। विवाद बढ़ता देख पुलिस मौके पर पहुंच गई और स्थितियों को काबू में किया। सुरक्षा के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई है। 

कोटा में बच्चों की मौत पर स्मृति ने कही ये बात
राजस्थान के कोटा में करीब 100 से ज्यादा नवजात बच्चों की मौत पर स्मृति ने राजस्थान पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, जब कोई गरीब अस्पताल आता है तो वो अपेक्षा करता है कि उसके पास पैसे भले न हों, लेकिन उसे सरकारी संस्थान के माध्यम से संरक्षण और सेवा प्राप्त होगी। ये प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी है कि इस प्रकार की व्यवस्थाओं में अगर कोई चुनौती आती है तो उसका समाधान करे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios