Asianet News HindiAsianet News Hindi

उन्नाव गैंगरेप-विधानसभा सत्र शुरू होने के पहले सरकार का पहला एक्शन, 7 पुलिसकर्मी सस्पेंड

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की जलने से हुई मौत के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। प्रभारी निरीक्षक समेत 7 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है।

unnao  case 7  policemen suspended
Author
Lucknow, First Published Dec 8, 2019, 10:13 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


लखनऊ (उत्तर प्रदेश)। 17 दिसंबर से शुरू हो रहे विधानसभा के शीतकालीन सत्र में उन्नाव मुद्दे को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार को घेरने की तैयारी चल रही है। इधर इसके पहले ही उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की जलने से हुई मौत के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। प्रभारी निरीक्षक समेत 7 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। पुलिस के अधिकारियों के अनुसार इनका निलंबन उन्नाव के थाना बिहार में अपने काम के प्रति लापरवाही बरतने और अपराध नियंत्रण में लारवाही करने पर किया गया है।

ये हुए सस्पेंड
बिहार प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार त्रिपाठी, प्रभारी बीट अरविन्द सिंह रघुवंशी,  श्रीराम तिवारी, बीट आरक्षी अब्दुल वसीम, आरक्षी पंकज यादव, आरक्षी मनोज और आरक्षी संदीप कुमार

पीड़ितों ने दी थी चेतावनी
दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद गांव के बाहर रविवार को उसका अंतिम संस्कार किया गया। परिजनों की मांग थी कि सीएम योगी आदित्यनाथ उन्नाव में रेप पीड़िता के परिजनों से आकर मुलाकात करें। जब तक वे परिजनों से मुलाकात नहीं करते तब तक बेटी का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios