Asianet News HindiAsianet News Hindi

उन्नाव पीड़िता को एक साल से टॉर्चर कर रहा था आरोपी, पिता बोले-जिसे अपना समझा उसी ने बर्बाद कर दी जिंदगी

यूपी के उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जला दिया गया। करीब 90 प्रतिशत वो जल गई है। लखनऊ के सिविल अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

unnao victim burnt alive father statement KPU
Author
Unnao, First Published Dec 5, 2019, 3:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उन्नाव (Uttar Pradesh). यूपी के उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जला दिया गया। करीब 90 प्रतिशत वो जल गई है। लखनऊ के सिविल अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, मुख्या आरोपी के बारे में पीड़िता के पिता ने कहा गांव का बच्चा समझ उसे घर आने जाने दिया लेकिन उसने हमारी जिंदगी बर्बाद कर दी। 

क्या है पूरा मामला
मामला बिहार थाना क्षेत्र के हिंदूनगर का है। कुछ दिन पहले यहां युवती के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया गया था। मामले में दो नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भी भेजा। हाल ही में वे जमानत पर जेल से बाह आए थे। मामले में गुरुवार को युवती मामले की पैरवी के लिए रायबरेली जा रही थी। रास्ते में सुबह करीब चार बजे दोनों नामजद आरोपियों ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी।

एक साल से पीड़िता को टॉर्चर कर रहा था आरोपी 
पीड़िता के पिता ने कहा, घटना को गैंगरेप के मुख्य आरोपी शिवम ने 3 अन्य साथियों के साथ अंजाम दिया है। करीब एक साल पहले ये मामला शुरू हुआ। शिवम अक्सर घर पर आता जाता रहता था। हम भी उसे अपनो की तरह प्यार देते थे, लेकिन उसने हमारी जिंदगी ही बर्बाद कर दी। उसने पहले बेटी को अपने प्रेमजाल में फंसाया, फिर रायबरेली ले जाकर उसका रेप कर उसका वीडियो बना लिया। उस वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर उसने बेटी को टॉर्चर करना शुरू कर दिया। एक दिन वो बेटी को लेकर भाग गया। करीब 2 महीने तक रायबरेली सहित कई शहरों में लेकर रहा और उसका शारीरिक शोषण करता रहा। 

शादी का झांसा देकर किया था गैंगरेप
उन्होंने बताया, 9 जनवरी, 2018 को शिवम बेटी को रायबरेली सिविल कोर्ट ले जाकर एक वैवाहिक अनुबंध पत्र तैयार करवाया। इसके बाद एक महीने तक बेटी को लेकर रायबरेली में रहा। फिर उन्नाव घर लाकर बेटी को छोड़ दिया। हमने जब उससे शादी की बात की तो हमें ही धमकी देने लगा। परेशान होकर हमने बेटी को इनसब से दूर रखने के लिए उसे बुआ के घर रायबरेली भेज दिया। लेकिन शिवम को ये बात पता चल गई। 12 दिसंबर 2018 को वो अपने दोस्त शुभम के साथ बुआ के घर पहुंचा और शादी करने की बात कहकर उसे अपने साथ ले गया। रास्ते में उसने बंदूक के नोंक पर बेटी से गैंगरेप किया और लहूलुहान अवस्था में उसे वहीं छोड़कर भाग गया।

3 दिन पहले ही जमानत पर रिहा हुए थे आरोपी
5 मार्च 2019 को बड़ी मुश्किल से पुलिस ने एफआईआर दर्ज की और शिवम और शुभम को गिरफ्तार जेल भेजा। 3 दिन पहले ही दोनों जमानत पर रिहा होकर जेल से बाहर आए थे। बाहर आते ही उन्होंने बेटी को जिंदा जला दिया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios