Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP Election 2022: बढ़ गई चुनावी हलचल, BJP सहित ये पार्टियां कर सकती हैं आज उम्मीदवारों के नाम की घोषणा

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने रविवार को मीडिया को बताया कि उत्तर प्रदेश में हमारी पार्टी का किसी से भी गठबंधन नहीं है। हम अकेले ही सभी 403 सीट पर अपने प्रत्याशी उतार रहे हैं। आज पार्टी मुख्यालय में होने वाली बैठक में प्रत्याशियों का चयन किया जाएगा। इसके बाद सूची भी जारी होगी। बसपा प्रत्याशियों की पहली सूची भी जल्द घोषित करने के संकेत दिए हैं। 

UP Election 2022 these parties including BJP can announce the names of candidates today
Author
Lucknow, First Published Jan 10, 2022, 11:08 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh assembly elections)  को लेकर चुनावी बिगुल बज चुका है। इसके साथ ही सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी तैयारियों को अमली जामा पहनाने में जुट गई हैं। प्रदेश में 7 चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान 10 फरवरी को होना है। ऐसे में यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने उम्मीदवारों के फाइनल चयन को लेकर पदाधिकारियों की बेहद अहम बैठक बुलाई है। माना जा रहा है क‍ि मायावती जल्द ही प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी कर सकती हैं।

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने रविवार को मीडिया को बताया कि उत्तर प्रदेश में हमारी पार्टी का किसी से भी गठबंधन नहीं है। हम अकेले ही सभी 403 सीट पर अपने प्रत्याशी उतार रहे हैं। आज पार्टी मुख्यालय में होने वाली बैठक में प्रत्याशियों का चयन किया जाएगा। इसके बाद सूची भी जारी होगी। बसपा प्रत्याशियों की पहली सूची भी जल्द घोषित करने के संकेत दिए हैं। उन्होंने रविवार को बैठक में मंडलवार उम्मीदवारों के चयन के बारे में जानकारी ली। इसमें बताया गया कि लगभग 323 सीटों पर उम्मीदवारों के चयन का काम पूरा हो गया है। शेष 80 सीटों पर उम्मीदवारों के चयन का काम उनके निर्देश के आधार पर पूरा कर लिया जाएगा।

मायावती ने की ये मांग
बसपा प्रमुख ने रविवार को मीडिया से कहा कि उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए कार्यक्रम की घोषणा की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि इन राज्यों में चुनाव के मद्देनजर यह बहुत जरूरी है कि निर्वाचन आयोग आदर्श आचार संहिता को पूरी सख्ती से लागू कराने के लिए ठोस कदम उठाए, ताकि आमजन में स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराने के संबंध में विश्वास कायम हो सके। उत्तर प्रदेश में चार बार मुख्यमंत्री रह चुकीं मायावती ने अपने कार्यकाल में कानून व्यवस्था को बेहतर करार देते हुए राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार के पक्षपातपूर्ण रवैये के कारण राज्य में अपराधियों का जंगलराज है और हर जाति एवं वर्ग के लोग दुखी हैं। उन्‍होंने कहा कि इस चुनाव में भाजपा सत्‍ता से बाहर हो जाएगी, बशर्ते सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग तथा वोटिंग मशीन के साथ कुछ गड़बड़ी नहीं की जाए।

सपा भी कर सकती है आज बैठक
सूत्रों के अनुसार, समाजवादी पार्टी 10 जनवरी को एक अहम बैठक करने जा रही है। इस बैठक में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav), सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के साथ शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) और पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव भी शामिल होंगे। अभी तक चाचा शिवपाल के साथ अखिलेश ने मंच सांझा नहीं किया है। तो कयास लगाए जा रहे हैं कि सोमवार को होने वाली इस बैठक में आपसी सामंजस्य और सीटों के बंटवारे पर चर्चा हो सकती है।  बताया जा रहा है कि परिवार के कुछ और लोग भी बैठक में शामिल होंगे। 

कांग्रेस भी तैयार कर रही उम्मीदवारों की सूची
पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की तिथियों के ऐलान के साथ कांग्रेस ने उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार और कोविड प्रोटोकोल को देखते हुए पार्टी इस बार अधिसूचना जारी होन के साथ प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर सकती है। उत्तर प्रदेश में पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी की अगुआई में पार्टी लगभग सौ सीट पर प्रत्याशी तय कर चुकी है। इसके साथ चालीस फीसदी महिला उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया भी अंतिम दौर में है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, इस सप्ताह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रत्याशियों के नाम पर मुहर लग सकती है।

यूपी में रैली पर रोक से पहले खेलःमोदी 17, नड्डा-शाह का 12 दौरा,योगी की हर मंथ 20 रैली,SP ने कवर किया 80% जिला

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios