Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP: 'हिंदू सेना' ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्टर लगाए, जिसे पढ़कर मचा हंगामा

केंद्र सरकार (Modi Government) के तीन कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के विरोध में गाजीपुर (Gazipur Border) और टीकरी बॉर्डर (Tikiri Border) पर किसान 11 महीने से आंदोलन कर रहे हैं। इस दौरान कई बार आंदोलन को लेकर सवाल उठे। विरोध भी हुए। बहरहाल, दिल्ली के बॉर्डर (Delhi Border) वाले बंद पड़े रास्तों को पुलिस ने बहाल कर दिया है। गुरुवार को टीकरी बॉर्डर का एक रास्ता खोला गया था। इसके बाद शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर लगे बैरिकेडिंग हटा दी। पुलिस ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश पर हाइवे-9) खोल दिया गया है। इस बीच, एक विवादित पोस्टर सामने आया है।
 

UP Hindu sena put up objectionable posters against farmers on Ghazipur border
Author
Delhi - Meerut Expressway, First Published Oct 30, 2021, 3:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गाजियाबाद। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के विरोध में किसान आंदोलन (Farmer Protest) के बीच शनिवार को एक विवादित पोस्टर सामने आया है। ये पोस्टर दिल्ली-यूपी के गाजीपुर बॉर्डर (Gazipur Border) पर लगाए गए हैं। किसानों का कहना है कि सुबह ही बैरिकेडिंग के पास हाइवे के डिवाइडर पर हिंदू सेना के नाम ये पोस्टर चस्पा किए गए हैं। इनमें लिखा था-‘दुष्कर्मी किसान, हत्यारा किसान आंदोलन बंद करो।’हालांकि जैसे ही इन पोस्टर की जानकारी पुलिस को मिली तो ये पोस्टर वहां से हटा दिए गए।

गाजियाबाद स्थित दिल्ली-यूपी गेट (गाजीपुर बॉर्डर) पर किसानों के आंदोलन का मामले में नया मोड़ आ गया है। एक तरफ शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने टीकरी बॉर्डर से बैरिकेड हटाए तो दूसरी ओर शनिवार को गाजीपुर बॉर्डर पर आपत्तिजनक पोस्टर लगा दिए गए। इन पोस्टरों में लिखा है – दुष्कर्मी किसान आंदोलन बंद करो’, आतंकवादी किसान आंदोलन बंद करो’, ‘हत्यारे किसान आंदोलन बंद करो’, ‘दंगाई किसान आंदोलन बंद करो।’वहीं, समय रहते पुलिस ने यह पोस्टर वहां से हटा दिए हैं। दूसरी ओर इस पोस्टर में साफ तौर पर हिंदू सेना लिखा है। इसके साथ ही सुरजीत यादव नामक व्यक्ति का नाम और मोबाइल नंबर भी पोस्टर पर लिखा गया था।

पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर खोले रास्ते
दरअसल, केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली के बॉर्डर पर सालभर से किसान आंदोलन कर रहे हैं। किसानों के हाइवे पर डटे होने से पिछले 11 महीने से रास्ता बंद पड़ा था। गुरुवार को दिल्ली पुलिस ने टीकरी बॉर्डर से बैरिकेडिंग हटाकर एक रास्ता बहाल कर दिया था। इसके बाद शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर लगे बैरिकेडिंग हटा दिए थे। पुलिस ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हाइवे-9 को खोल दिया गया है।

राकेश टिकैत बोले- बॉर्डर खुलने से अब ट्रैक्‍टर सीधे संसद तक जा सकेंगे
गाजीपुर बॉर्डर खोलने पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि देश के किसानों ने कभी भी बॉर्डरों को बंद नहीं किया। ये बॉर्डर तो सरकार ने बंद कर रखे थे और अब सरकार खुद ही खोल रही है। बॉर्डर खुलने से किसान आंदोलन को फायदा होगा और अब उनके ट्रैक्टर सीधे संसद तक जा सकेंगे। सरकार ने कानून बनाया है कि किसान कहीं भी फसल बेच सकता है। इसलिए अब किसान अपनी फसल संसद में ही बेचेंगे और अपने ट्रैक्टर, ट्रॉली, आटा-चक्की साथ लेकर जाएंगे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios