Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP News: गोवंशों की सुरक्षा को लेकर CM योगी ने अफसरों के साथ की अहम बैठक, जानिए! क्या दिशानिर्देश हुए जारी

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को निर्देश देते हुए कहा कि गो-संरक्षण केन्द्रों में पशुओं के चारे, पानी, सुरक्षा, साफ-सफाई आदि की पूरी व्यवस्था की जाए। सीएम योगी ने पशुपालन विभाग व जिला स्तर के सभी सम्बंधित अधिकारियों को जरूरी दिशानिर्देश जारी किए। 

UP News: CM Yogi held an important meeting with the officers regarding the safety of cows, know! what guidelines have been issued
Author
Lucknow, First Published Nov 23, 2021, 11:24 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ(CM Yogi Adityanath) ने सोमवार को बैठक के दौरान गो-संरक्षण केन्द्रों(cow protection centers) की व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि निराश्रित गोवंश(destitute cows) के संरक्षण के लिए राज्य सरकार (state government) ने सभी जिलों में पर्याप्त संख्या में गो-आश्रय स्थलों(cow shelter sites) की व्यवस्था की है। सभी जिलाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि कहीं भी गोवंश छुट्टा न घूमें। इन्हें गो-आश्रय स्थल में लाकर इनकी समुचित देखभाल की जाए। पशुपालन विभाग(Animal Husbandry Department) छुट्टा जानवरों को गो-संरक्षण केन्द्रों में पहुंचाए। इसके लिए टीम गठित कर प्रभावी कार्यवाही की जाए। 

'ठंड के मौसम में गो-संरक्षण केन्द्रों में पशुओं के लिए पूरी व्यवस्थाएं करने के निर्देश'

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देशित किया कि गो-संरक्षण केन्द्रों में पशुओं के चारे, पानी, सुरक्षा, साफ-सफाई आदि की पूरी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। पशुओं को ठण्ड से बचाने तथा स्वास्थ्य की देखभाल के पुख्ता इंतजाम किए जाएं। संरक्षण केन्द्रों में केयरटेकर तैनात रहें, जो इन पशुओं की देख-रेख करें। 

योजना के तहत गोवंश का पालन पोषण करने वाले को मिलेंगे 900 रुपए प्रति माह

 राज्य सरकार द्वारा ‘मुख्यमंत्री निराश्रित/बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना’ को लागू किया गया है। इस योजना के अन्तर्गत कोई भी इच्छुक किसान/पशुपालक निराश्रित गोवंश का पालन-पोषण करने के लिए अपने पास रख सकता है। कुपोषित बच्चों के लिए दूध की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु परिवार को उनकी इच्छा पर एक निराश्रित गोवंश दिए जाने की भी व्यवस्था की गयी है। इस योजना के अन्तर्गत गोवंश के पालन-पोषण के लिए लाभार्थी को 900 रुपए प्रतिमाह प्रति गोवंश प्रदान किए जाने का प्राविधान है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios