Asianet News HindiAsianet News Hindi

Up News: कोरोना की मार, एक्सप्रेस-वे निर्माण में BJP का कमाल... जानें अखिलेश के आरोपों का पूरा सच

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के बाद से विपक्ष में बैठी सपा लगातार बीजेपी सरकार पर हमला कर रही है। लेकिन एक्सप्रेस-वे की सच्चाई बिलकुल अलग है। सपा, बसपा और बीजेपी सरकार में बने एक्सप्रेस-वे के बारे में बात की जाए तो बीजेपी सरकार सबसे आगे चल रही है। मोजूदा बीजेपी सरकार ने अपने कार्यकाल में सबसे लंबे किलोमीटर के एक्सप्रेस-वे तैयार करने में सफलता हासिल की है। 

Up News: Corona kills, BJP's amazing in construction of expressway... Know the full truth of Akhilesh's allegations
Author
Lucknow, First Published Nov 23, 2021, 1:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ: यूपी विधानसभा सभा चुनाव (Up Vidhansabha Chunav)के पहले एक्सप्रेस-वे लेकर राजनीति जोरों पर चल रही है। ऐसे में यह जानना बेहद जरूरी है कि कौन सी सरकार ने कितने किलोमीटर का लंबा एक्सप्रेस-वे तैयार किया है। आपको बता दें कि हाल ही में शुरू हुए पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (Purvanchal Expressway) को लेकर विपक्षी दल खासकर सपा ने सरकार पर जमकर निशाना साधा और सरकार के काम को अपना बताया है। 

बीजेपी सरकार ने तैयार किए कुल 641 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे

साढ़े चार साल की भाजपा सरकार में 641 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे तैयार किये गए हैं। 341 किलोमीटर का पूर्वांचल एक्सप्रेस वे तैयार किया गया है वहीं दूसरी तरफ 300 किलोमीटर का बुंदेलखंड एक्सप्रेस ( Bundelkhand Expressway) वे तैयार हो रहा है। 91 किलोमीटर का गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे (Gorakhpur Link Expressway) का निर्माण भी बीजेपी सरकार करा रही है। दोनों एक्सप्रेस वे का उद्घाटन सरकार दिसंबर तक करने की तैयार में है। 

सपा ने बनवाया था 302 किलोमीटर का एक्सप्रेस वे 

बात करें सपा सरकार में तो मात्र 302 किलोमीटर का आगरा एक्सप्रेस वे बनकर तैयार हुआ था। वहीं बसपा ने अपनी सरकार में 167 किलोमीटर का एक्सप्रेस वे तैयार कराया था। 2 साल कोरोना की मार झेलने के बाद भी भाजपा सरकार ने रिकॉर्ड समय में सबसे लंबा एक्सप्रेस वे तैयार कराकर इतिहास बनाने का काम किया है। 

चुनाव में फायदे के लिए नियम की अनदेखी

आपको बता दें कि जिस पूर्वाचल एक्सप्रेस को अखिलेश अपना बता रहे हैं, उसको लेकर सपा सरकार ने बिना जमीन का अधिग्रहण किये टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी थी। नियम के मुताबिक जब तक 80 प्रतिशत जमीन अधिकृत नहीं की जाती है, तब तक आप उसका टेंडर नहीं उठा सकते हैं। हालांकि चुनाव करीब होने की वजह सपा सरकार ने उसका शिलान्यास भी कर दिया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios