Asianet News HindiAsianet News Hindi

Up News: अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम और खान मुबारक का करीबी हारिश खान गिरफ्तार

हारिश खान मुंबई ब्लास्ट के मास्टरमाइंड और डी कंपनी (D Company) के कुख्यात अबु सलेम और अंबेडकर के कुख्यात अपराधी जफ़र सुपारी- खान मुबारक का करीबी है। हारिश खान पर प्रॉपर्टी डीलिंग में फ्रॉड, रुपये वसूलने और हड़पने के कई मुकदमे दर्ज हैं।

Up News Haarish Khan close aide of underworld don Abu Salem and Khan Mubarak arrested
Author
Lucknow, First Published Nov 24, 2021, 7:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नोएडा: यूपी एसटीएफ (Up STF) की टीम ने  सेक्टर-20 पुलिस की मदद से 25 हज़ार के इनामी बदमाश हारिश खान (Haarish Khan)को गिरफ्तार किया है। हारिश खान मुंबई ब्लास्ट के मास्टरमाइंड और डी कंपनी (D Company) के कुख्यात अबु सलेम और अंबेडकर के कुख्यात अपराधी जफ़र सुपारी- खान मुबारक का करीबी है। हारिश खान पर प्रॉपर्टी डीलिंग में फ्रॉड, रुपये वसूलने और हड़पने के कई मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने हारिश खान के पास से एक पिस्टल और तीन कारतूस बरामद किये हैं।

आरोपी कई वारदात को दे चुका है अंजाम

यूपी एसटीएफ की नोएडा यूनिट के ASP राजकुमार मिश्रा ने बताया कि कुछ समय पहले ही पुलिस ने इस संबंध में गजेंद्र सिंह निवासी ग्राम मोरना, नोएडा को गिरफ्तार किया था। गजेंद्र सिंह और हारिश खान मिलकर आपराधिक वारदातों को अंजाम देते थे। गजेंद्र सिंह से पूछताछ में पुलिस को पता चला था कि हारिश खान 23 नवंबर को नोएडा सेक्टर 20 क्षेत्र में आने वाला है। सूचना मिलते ही STF और पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई और लेबर चौक के पास से हारिश खान को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के दौरान आरोपी के पास से एक 315 बोर की पिस्टल और तीन कारतूस बरामद किये गए हैं। 

मुंबई में डी कंपनी के संपर्क में आया था खान

एएसपी राजकुमार ने बताया कि हारिश खान यूपी के जनपद  जौनपुर का मूल निवासी है। वह 2004 में अपने परिवार के साथ मुंबई में अपने दादा के पास चला गया। वहां पर उसके दादा का कपड़ों का कारोबार था। मुंबई में ही वह डी कंपनी के संपर्क में आया। 2013 में जब गजेंद्र सिंह मुंबई पैसे कमाने के लिए पहुंचा था तो वहीं पर हारिश खान की मुलाकात गजेंद्र सिंह से हुई थी। उसी के बाद से ही यह दोनों संपर्क में आ गए और नोएडा में मिलकर काम करने लगे। इन दोनों ने मिलकर नोएडा में प्रॉपर्टी डीलिंग का कार्य शुरू किया। 

25 हजार का इनामी था खान

पुलिस को पूछताछ से पता चला कि वर्ष 2014 से 15 के बीच इन्होंने कई लोगों को फर्जी प्लॉट बेचकर पैसे कमाए। जब लोगों द्वारा पैसे मांगे जाते थे तो वह या तो डी कंपनी के नाम पर  या उन पर हमला करा कर डरा देते थे। एसटीएफ की नोएडा यूनिट की टीम काफी समय से हारिश खान को तलाश रही थी। कोतवाली सेक्टर 20 पुलिस ने हारिश खान पर 25 हज़ार रुपये का इनाम भी घोषित कर रखा था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios