Asianet News Hindi

योगी की शक्ति पूजा: मुख्यमंत्री ने अपने हाथ से कन्याओं को परोसी खीर-पुड़ी, ओढ़ाई चुनरी..पखारे पांव

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। जहां उन्होंने विधि-विधान से कन्या-पूजन किया। इसके बाद नौ दुर्गा की प्रतीक नौ कन्याओं को भोजन कराया। सीएम ने 9 कन्याओं का पांव पखारे और उन्हें दक्षिणा देकर उनका आशीर्वाद लिया।

uttar pradesh gorakhpur cm yogi adityanath perform kanya poojan on mahanavami in gorakhnath templ kpr
Author
Gorakhpur, First Published Oct 25, 2020, 12:11 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गोरखपुर (उत्तर प्रदेश). आज नौ दिन तक चलने वाले शारदीय नवरात्र का पर्व पूरा हो गया। देश में कहीं दशहरा तो कहीं नवमी मनाई जा रही है। इस अवसर पर रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर पहुंचे। जहां उन्होंने पहले विधि-विधान से गोरखनाथ मंदिर में पूजन की। इसके बाद नौ दुर्गा की प्रतीक नौ कन्याओं को भोजन कराया। सीएम ने कन्याओं के पांव पखारे और उन्हें दक्षिणा देकर व चुनरी उढ़ाकर उनका आर्शीवाद लिया।

योगी ने अपने हाथ से परोसी कन्याओं को पुड़ी
सीएम योगी ने गोरखपुर पहुंचकर अपने हाथ से कन्याओं को खीर-पुड़ी परोसी और उनको तिलक लगाकर आर्शीवाद लिया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की सनातन संस्कृति में मातृ शक्ति की आस्था रही है। इसी का प्रतीक यह कन्या पूजन है। बता दें कि योगी आज यहां के प्रमुख कार्यक्रमों में भाग लेंगे। जहां वह गोरखनाथ मंदिर से निकलने वाली शोभायात्रा में भी शामिल होंगे। 

कन्या पूजन में दिखी सोशल डिस्टेंसिंग
सीएम योगी ने कन्या पूजन कोरोना के नियमों के तहत किया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी खास ध्यान रखा गया। सभी कन्याओं को एक-दूसरे से दो फीट की दूरी रखकर भोजन कराया गया। सीएम के इस खास कार्यक्रम में कन्यांए काफी प्रसन्न दिख रही थीं, सभी को सम्मान के साथ पूजन के बाद विदा किया गया।

सीएम दंडाधिकारी की भूमिका में आएंगे नजर
बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हर साल इस दिन गोरखपुर जाते हैं। जहां वह दिन में कन्या भोज कराकर रात को विजयादशमी की परंपरागत पूजा में शामिल होंगे। बताया जात है कि इस दौरान सीएम बतौर दंडाधिकारी की भूमिका में नाथ पीठ के संतों के बीच होने वाले विवाद को सुलझाने की परंपरा का निर्वाह करेंगे।  इस पूजा में उन्हें ही प्रवेश मिलता है, जिन्होंने नाथ पंथ की दीक्षा ली हो।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios