Asianet News HindiAsianet News Hindi

यूपी के खतौली में हो रहे उपचुनाव में सपा-रालोद ने घोषित किया कैंडिडेट, इस पूर्व विधायक को उतारा मैदान में...

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद जयंत चौधरी ने यूपी विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर विक्रम सैनी के मामले में भी निर्णय लेने को कहा था। विक्रम सैनी का मुद्दा सुर्खियों में आने के बाद बीजेपी विधायक की सदस्यता भी रद्द कर दिया गया था।

Uttar Pradesh Khatauli Assembly byelection 2022, Samajwadi Party and RLD alliance declared Madan Bhaiya as candidate, DVG
Author
First Published Nov 13, 2022, 8:58 PM IST

Uttar Pradesh Khatauli Assembly seat: यूपी की खतौली विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए सपा-रालोद गठबंधन ने प्रत्याशी तय कर दिया है। खतौली विधानसभा उप चुनाव के लिए सपा-रालोद ने पूर्व विधायक मदन भैया को अपना संयुक्त उम्मीदवार घोषित किया है। आरएलडी ने ट्वीट कर गठबंधन प्रत्याशी के रूप में मदन भैया के नाम का ऐलान किया है। पांच दिसंबर को उपचुनाव के लिए वोटिंग होनी है। अयोग्य ठहराए गए बीजेपी विधायक विक्रम सैनी पर मुजफ्फरनगर दंगे में शामिल होने के आरोप सिद्ध होने के बाद दो साल की सजा सुनाई गई थी।

RLD ने किया ऐलान

खतौली विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए राष्ट्रीय लोकदल ने प्रत्याशी का ऐलान करते हुए बताया कि आरएलडी-समाजवादी पार्टी गठबंधन के लिए मदन भैया को प्रत्याशी बनाया गया है। 

 

विक्रम सैनी इस सीट से रहे हैं विधायक

2022 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी विक्रम सैनी ने चुनाव में जीत दर्ज की थी। 2013 में मुजफ्फरनगर दंगे से जुड़े मामले में बीजेपी विधायक विक्रम सैनी भी आरोपी थे। न्यायालय ने कुछ महीने पहले विधायक विक्रम सैनी पर मुजफ्फरनगर दंगे के लिए दोषी ठहराया था। 2013 के मुजफ्फरनगर दंगे के मामले में स्पेशल एमपी-एमएलए कोर्ट ने उन्हें 11 अक्टूबर 2022 को दो साल की सजा सुनाई थी। सजा सुनाए जाने के बाद विक्रम सैनी की विधानसभा की सदस्यता को रद्द करने का आदेश लंबित था। रामपुर विधायक आजम खान की सदस्यता बिना देर किए रद्द किए जाने के बाद राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद जयंत चौधरी ने यूपी विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर विक्रम सैनी के मामले में भी निर्णय लेने को कहा था। विक्रम सैनी का मुद्दा सुर्खियों में आने के बाद बीजेपी विधायक की सदस्यता भी रद्द कर दिया गया था। सिंह को एक विधायक के रूप में अयोग्य घोषित कर दिया गया। उत्तर प्रदेश विधानसभा सचिवालय नोटिफिकेशन के बाद निर्वाचन आयोग ने इस सीट पर उपचुनाव का शेड्यूल जारी कर दिया है।

यह भी पढ़ें:

बाबा रामदेव की पतंजलि की 5 दवाओं पर लगी रोक हटी, उत्तराखंड ड्रग अथॉरिटी ने कहा-गलती से लगा दी थी बैन...

दिल्ली के शासक का दुश्मन चीन या पाकिस्तान नहीं, उनके खिलाफ बोलने वाले को माना जाता है दुश्मन: संजय राउत

राजीव गांधी की हत्या में आरोपी नलिनी जेल से आई बाहर, सोनिया गांधी ने वर्षों पहले इस वजह से किया था माफ

देश में कानूनी पेशा सामंती और पितृसत्तात्मक...सीजेआई बोले-महिलाओं की भागीदारी हो सुनिश्चित

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios