Asianet News Hindi

देश में कोरोना का सबसे अनोखा मामला: पहली बार स्वस्थ महिला ने पॉजिटिव बच्चे को दिया जन्म..डॉक्टर हैरान

, कोरोना का यह अब तक दुर्लभ मामला वाराणसी के बीएचयू में स्थित सर सुंदर लाल अस्पताल का है। जहां एक स्वस्थ गर्भवती महिला ने कोरोना पॉजिटिव बच्ची को जन्म दिया है। इस घटना के बाद से मेडिकल साइंस से जुड़े विशेषज्ञ हैरान हैं। बीएचयू अस्पताल के डॉक्टर इसे रेयर नहीं मान रहें हैं।

uttar pradesh news unique case first time negative woman gives birth to corona positive baby  in varanasi  kpr
Author
Varanasi, First Published May 27, 2021, 7:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी (उत्तर प्रदेश). कोरोना वायरस की दूसरी लहर जितनी खतरनाक है उससे कहीं ज्यादा चौंकाने वाली भी है। यूपी के वाराणसी में एक ऐसा हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है जो शायद देश का ऐसा पहला केस बन गया है। यहां एक स्वस्थ गर्भवती महिला ने कोरोना पॉजिटिव बच्ची को जन्म दिया है। जबकि जन्म देने वाली मां निगेटिव है। इस घटना के बाद बीएचयू के डॉक्टर और वैज्ञानिक हैरान हैं और नवजात की फिर से जांच करने को कह रहे हैं। 

देश का सबसे अनोखा मामला
दरअसल, कोरोना का यह अब तक दुर्लभ मामला वाराणसी के बीएचयू में स्थित सर सुंदर लाल अस्पताल का है। जहां चंदौली की रहने वाली सुप्रिया प्रजापति नाम की महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया है। अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि सुप्रिया को 24 मई को भर्ती कराया गया था। जांच के दौरान महिला की रिपोर्ट निगेटिव थी। वहीं  25 मई को सुप्रिया ने बच्चे को जन्म दिया। जब बच्चे की जांच की गई तो वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया।

मेडिकल साइंस से जुड़े विशेषज्ञ और डॉक्टर भी हैरान
इस घटना के बाद से मेडिकल साइंस से जुड़े विशेषज्ञ हैरान हैं। बीएचयू अस्पताल के डॉक्टर इसे रेयर नहीं मान रहें हैं। साथ ही बच्च की दोबारा आरटी-पीसीआर टेस्ट करने की बात कर रहें हैं।  जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीबी सिंह ने कहा कि यह घटना अब तक की सबसे दुर्लभ घटना है। फिलहाल बच्चा और महिला दोनों पूर्ण रुप से स्वस्थ्य हैं। बच्चे की जांच एक बार फिर की जाएगी।जिसके बाद ही  बाद मामला और भी स्पष्ट हो पाएगा। हमारी मेडिकल टीम दोनों पर विशेष निगरानी बनाए हुए है।

महिला के पति ने बताई दूसरी ही बात
महिला के पति अनिल कुमार ने कहा कि उनकी 26 वर्षीय गर्भवती पत्नी का इलाज पहले से बीएचयू में ही चल रहा था। डॉक्टरों ने प्रसव की तारीख 25 मई दी हुई थी। आते ही डॉक्टरों ने पत्नी की कोरोना जांच की और उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई। लेकिन एक दिन बाद जब डिलीवरी हुई थी बच्चा कोरोना पॉजिटिव हो गया।  बच्ची के पिता ने संभावना जताई कि शायद कोरोना का टेस्ट सही से नहीं किया होगा इसलिए उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios