Asianet News HindiAsianet News Hindi

उन्नाव केस: अभी भी इस हालत में है रेप पीड़िता, शशि सिंह को बरी करने से गुस्से में है परिवार

कोर्ट ने जहां रेप के आरोपी रहे विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दोषी माना वहीं इस मामले में सहअभियुक्त रही शशि सिंह को बरी कर दिया गया था। पीड़िता इस समय दिल्ली के एम्स में भर्ती है।  hindi.asianetnews.com ने पीड़िता की बहन से खास बातचीत की। बातचीत के दौरान पीड़िता की बड़ी बहन ने शशि सिंह को बरी किए जाने पर नाराजगी व्यक्त किया

victim family will go to court again against acquitting shashi singh in unnao case kpl
Author
Unnao, First Published Dec 17, 2019, 4:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उन्नाव(Uttar Pradesh ). नाबालिग से रेप के मामले में उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट ने दोषी माना है। कोर्ट ने इस मामले में सजा सुनाने के लिए 20 दिसंबर का समय निर्धारित किया है। सोमवार को कोर्ट ने जहां रेप के आरोपी रहे विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दोषी माना वहीं इस मामले में सहअभियुक्त रही शशि सिंह को बरी कर दिया गया था। पीड़िता इस समय दिल्ली के एम्स में भर्ती है।  hindi.asianetnews.com ने पीड़िता की बहन से खास बातचीत की। बातचीत के दौरान पीड़िता की बड़ी बहन ने शशि सिंह को बरी किए जाने पर नाराजगी व्यक्त किया। 

क्या है पूरा मामला 
2017 में उन्नाव की रहने वाली पीड़िता ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व उनके भाईयों पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया था। 9 अप्रैल 2018 को पीड़िता के पिता की उन्नाव में पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी। इस कथित हत्या मामले में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट MLA कुलदीप सेंगर, उनके भाई अतुल सेंगर, उत्तर प्रदेश पुलिस के तीन पुलिसकर्मियों और पांच अन्य लोगों पर पहले ही आरोप तय कर चुकी है। बीते 9 अगस्त को कोर्ट ने कहा था कि विधायक के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं, जिससे तय होता है कि उन्होंने दुष्कर्म किया। कोर्ट ने विधायक सेंगर पर आईपीसी की धारा 120 बी, 363, 366, 109, 376 (आई) और पॉक्सो एक्ट तीन और चार के तहत आरोप तय किए थे। उसी मामले में कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई करते हुए MLA कुलदीप को दोषी माना। वहीं मामले में सहअभियुक्त रही शशि सिंह को कोर्ट ने बरी कर दिया। वर्तमान में विधायक तिहाड़ जेल में बंद हैं। 

क्या था शशि सिंह पर आरोप 
शशि सिंह विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के प्रमुख सहयोगियों में शामिल रही है। शशि पर ये आरोप था कि वह पीड़िता को नौकरी दिलाने के बहाने कुलदीप सेंगर के पास लेकर गई थी। जिसके बाद सेंगर ने पीड़िता का बलात्कार किया। मामले में शशि सिंह को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर तिहाड़ जेल भेजा था। 

शशि सिंह को बरी करने के मामले में फिर से कोर्ट जाएगा पीड़ित परिवार 
दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट द्वारा उन्नाव रेप केस में सह आरोपी शशि सिंह को बरी कर दिया गया है। इस मामले को लेकर पीड़िता का परिवार काफी आक्रोशित है। पीड़िता की बड़ी ने कहा कि "शशि सिंह ही वह महिला थी जिसने उसकी बहन की जिंदगी बर्बाद किया। वही विधायक के पास मेरी बहन को लालच देकर ले गई थी। शशि सिंह को सजा जरूर मिलनी चाहिए ताकि आगे से किसी के साथ इस तरह का विश्वासघात न हो।"

इतनी कमजोर है कि बोलने से भी पीड़िता को आ जाता है चक्कर 
रेप पीड़िता की बड़ी बहन ने बताया कि "इस घटना ने मेरा पूरा परिवार तबाह कर दिया। मेरी बहन अभी भी एम्स में भर्ती है। वह बेहद कमजोर हो चुकी है। वह ठीक से बोल भी नहीं पाती है। थोड़ी देर बात करते ही उसे चक्कर आ जाता है। पिता व चाची की पहले ही इस मामले ने जान ले ली है। चाचा जेल में हैं। हम लोग तो अनाथ ही हो गए हैं।"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios