कानपुर (Uttar Pradesh). यूपी के कानपुर में नाबालिग से छेड़छाड़ के आरोपियों ने पीड़िता की मां को इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, करीब 8 दिन पहले आरोपियों ने पीड़िता की मां और मौसी को जमकर पीटा था। जिसके बाद दोनों का हैलट अस्पताल में इलाज चल रहा था। शुक्रवार को इलाज के दौरान मां की मौत हो गई।

क्या है पूरा मामला
मामला चकेरी थाना क्षेत्र के जाजमऊ का है। आरोप है कि यहां रहने वाली महिला की बेटी से क्षेत्र में रहने आबिद, मिंटू, महफूज और जमील ने साल 2018 में छेड़छाड़ की थी। जिसका महिला ने केस दर्ज कराया था। मामले में पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की और आरोपियों को सजा हो गई। लेकिन कुछ महीने जेल में रहने के बाद आरोपी कोर्ट से जमानत पर बाहर आ गए। जिसके बाद वे पीड़ित पक्ष पर केस वापस लेने का दबाव बना रहे थे।

घर में घुसकर आरोपियों ने की मारपीट
मृतका के भाई ने कहा, हम लोग उस दिन ड्यूटी पर थे, बहनें घर पर थीं। 8 से 10 लोग घर पर घुसे और बहनों के साथ बदसलूकी की। घर से घसीट कर सभी को जमकर पीटा, जान से मारने की कोशिश की। हमलावरों के पास पत्थर और चापड़ थे। पुलिस को सूचना देने के बाद बहनों को 9 जनवरी को अस्पताल में भर्ती कराया। शुक्रवार को एक बहन की मौत हो गई। उसकी लड़की से आरोपियों ने छेड़छाड़ की थी। केस वापस न लेने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। 

पुलिस ने बताई ये वजह
एसएसपी अंनतदेव ने बताया, साल 2018 में एक अभियोग पंजिकृत किया गया था। हमलावर सभी मुल्जिम थे और जमानत पर बाहर थे। कुछ दिन पहले आरोपियों ने एक महिला पर हमला किया। जिसकी 8 दिन बाद इलाज के दौरान मौत हो गई। तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी की तलाश में पुलिस टीमों का गठन किया गया है।