Asianet News HindiAsianet News Hindi

कौन हैं PFI का समर्थन करने वाले सपा सांसद, पहले भी इनके विवादित बयानों से मचा था बवाल

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने ईडी के साथ मिलकर देशभर के 15 राज्यों में PFI के अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान एजेंसी ने संगठन के 106 सदस्यों को गिरफ्तार भी किया है। इसी बीच यूपी के संभल से समाजवादी पार्टी सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने एनआईए की कार्रवाई को गलत ठहराते हुए पीएफआई का सपोर्ट किया है।

Who is shafiqur Rahman Barq Who Support PFI, Know about his Controversial Statements kpg
Author
First Published Sep 23, 2022, 9:00 PM IST

Shafiqur Rahman Barq: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने ईडी के साथ मिलकर देशभर के 15 राज्यों में PFI के अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान एजेंसी ने संगठन के 106 सदस्यों को गिरफ्तार भी किया है। इसके साथ ही एजेंसी को PFI के कई ठिकानों से आतंकी फंडिंग से जुड़े लेनदेन के अलावा कई गैरकानूनी चीजें भी बरामद हुई हैं। इसी बीच यूपी के संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने एनआईए की कार्रवाई गलत ठहरा दिया। बर्क ने पीएफआई का समर्थन करते हुए कहा कि आखिर इस संगठन ने ऐसा कौन सा गुनाह कर दिया है, जिससे उसे टारगेट किया जा रहा है। पीएफआई भी दूसरी संस्थाओं की तरह ही है, जो देश के मुस्लिम आबादी की समस्याओं के लिए लड़ रही है। 

पहले भी विवादित बयान दे चुके बर्क : 
सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क पहले भी कई विवादित बयान दे चुके हैं। फिर चाहे कुछ महीनों पहले बिजली विभाग के अफसरों को धमकाने का मामला हो, या तालिबान जैसे आतंकी संगठन का समर्थन, शफीकुर्रहमान बर्क हमेशा से ही अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहे हैं। आइए जानते हैं उनके कुछ ऐसे ही विवादित बयान। 

1- वंदेमातरम को बताया इस्लाम के खिलाफ 
साल 2019 में संसद में शपथ लेने के बाद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा था- जहां तक वंदेमातरम का ताल्‍लुक है, यह इस्‍लाम के खिलाफ है। हम इसका पालन नहीं कर सकते। बर्क के इस बयान के बाद काफी बवाल मचा था।

2- आतंकी संगठन तालिबान का समर्थन
बर्क ने अफगानिस्‍तान में तालिबान के कब्जे की तुलना भारत में ब्रिटिश राज के खात्‍मे के बाद भारतीयों के शासन से की। उन्‍होंने कहा था- हिंदुस्तान में जब अंग्रेजों का शासन था तो उन्हें हटाने के लिए हम उनसे लड़े। वैसे ही तालिबान ने भी अपने देश को आजाद कराया है। बर्क का ये बयान कहीं न कहीं तालिबान को सपोर्ट करता है। 

PFI के Shocking फैक्टः 23 राज्य में नेटवर्क-200+ कैडर, ब्रेनवॉश कर देशद्रोही बनने की ट्रेनिंग देता है ग्रुप

3- औलाद का ताल्‍लुक इंसान नहीं, खुदा से
जनसंख्‍या नियंत्रण कानून और उससे जुड़े विवाद पर शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा था- औलाद पैदा करने का ताल्‍लुक इंसान से नहीं, बल्कि अल्‍लाह से है। ऊपर वाला अगर बच्‍चे देता है तो उसके आगे का भी इंतजाम करता है।

4- बच्चियों को कंट्रोल करने हिजाब जरूरी 
कर्नाटक में शुरू हुए हिजाब विवाद पर बर्क ने इसका समर्थन किया था। उन्‍होंने कहा- जब बच्चियां बड़ी होने लगती हैं तो उन्हें काबू में करने के लिए हिजाब बेहद जरूरी है। हिजाब पहनने से बच्चियां काबू में रहती हैं। उनके इस बयान की खूब आलोचना हुई थी।

PFI Raid: 13 राज्य, 1 हजार से ज्यादा जवान, 106 गिरफ्तारियां, जानें पीएफआई पर छापेमारी की इनसाइड Story

5- ज्ञानवापी को सील किया तो कई जाने कुर्बान होंगी
शफीकुर्रहमान बर्क ने ज्ञानवापी मामले पर भड़काऊ बयान देते हुए कहा था- सरकार की पॉलिसी मुल्क के खिलाफ है। मुसलमानों के खिलाफ नफरत फैलाई जा रही है। ज्ञानवापी मस्जिद पर कब्जा हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। अगर ज्ञानवापी को सील किया जाएगा तो कई जानें कुर्बान जाएंगी। 

ये भी देखें : 

PFI : 2047 तक भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने का मंसूबा, जानें कितने खतरनाक इरादे रखता है ये संगठन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios