Asianet News HindiAsianet News Hindi

भारत नहीं, यहां रहते थे रामजी के वंशज

कुछ साल पहले ही थाईलैंड के इस राजा के अंतिम संस्कार में सबसे ज्यादा खर्चा किया गया था। थाईलैंड के लोग इस राजा को भगवान राम का वंशज मानते थे।

600 crores was spent in the funeral, people considered this king a descendant of Lord Rama
Author
Bangkok, First Published Aug 30, 2019, 9:01 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बैंकॉक। पुराने समय में राजा-महाराजाओं के हर काम में जितना खर्च किया जाता था, उसका अंदाज लगा पाना मुश्किल है। लेकिन थाईलैंड के राजा भूमिबोल अदूल्यादेज की मृत्यु होने पर उनके अंतिम संस्कार में जितनी बड़ी रकम खर्च की गई, वह हैरत की ही बात है। इतनी बड़ी रकम आज के समय में शायद ही किसी देश के शासक के अंतिम संस्कार में खर्च की गई हो। बता दें कि थाईलैंड के इस राजा को वहां के लोग भगवान राम का वंशज मानते थे। जबकि थाईलैंड में बौद्ध धर्म के मानने वाले लोग बहुसंख्यक हैं।

मृत्यु के एक साल बाद हुआ अंतिम संस्कार
थाईलैंड के राजा भूमिबोल अदूल्याज की मौत 13 एक्टूबर, 2016 को हुई थी, लेकिन इनका अंतिम संस्कार एक साल बाद किया गया था।

एक साल तक राष्ट्रीय शोक
राजा की मौत के बाद एक साल तक राष्ट्रीय शोक मनाया गया था। इसी दौरान बहुत ही भव्य अंदाज में उनके अंतिम संस्कार की तैयारी की गई। इसके लिए श्मशान में 185 फीट ऊंचा  सोने जैसा चमकदार प्लेटफॉर्म बनाया गया था। राजा के अंतिम संस्कार के लिए 500 मूर्तियां भी बनवाई गई थीं। इस सब में 600 करोड़ रुपए का खर्च आया था।

सोने के रथ पर ले जाया गया शव
बौद्ध परंपरा के मुताबिक, राजा का शव महल से श्मशान तक सोने के रथ पर ले जाया गया था। महल से श्मशान तक की दो किलोमीटर की दूरी तय करने में  तीन घंटे लग गए थे और लोगों का भारी हुजूम शवयात्रा के दौरान मौजूद था। कहते हैं कि इतना भव्य अंतिम संस्कार थाईलैंड क्या, दूसरे देशों में भी किसी राजा का शायद ही हुआ हो।  
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios