Asianet News Hindi

NASA से उड़ा कल्पना चावला के नाम वाला कार्गो अंतरिक्ष यान, अंतरिक्ष में जरूरी सामान ले जाने में सक्षम

नैशनल ऐरोनॉटिकल ऐंड स्पेस ऐडमिनिस्ट्रेशन (NASA) के इंटरनैशनल स्पेस स्टेशन के नॉर्थरोप ग्रमैन से एक कार्गो अंतरिक्ष यान लांच किया गया है। नासा द्वारा इस यान का नाम भारतीय मूल की पूर्व अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला के नाम पर रखा गया है। ये लांचिंग अमेरिकी नॉर्थरोप ग्रुमैन नासा की वॉलॉप्स फ्लाइट फैसिलिटी से शुरू की गई है और यह अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक कार्गो और जरूरी सामान की स्पलाई लेकर जाने का काम करने में सक्षम है।

A cargo spacecraft named NASA's Kalpana Chawla flew, capable of carrying essential goods into space
Author
NASA Kennedy Space Center Fire Rescue Station #2, First Published Oct 3, 2020, 10:47 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अमेरिका. नैशनल ऐरोनॉटिकल ऐंड स्पेस ऐडमिनिस्ट्रेशन (NASA)के इंटरनैशनल स्पेस स्टेशन के नॉर्थरोप ग्रमैन से एक कार्गो अंतरिक्ष यान लांच किया गया है। नासा द्वारा इस यान का नाम भारतीय मूल की पूर्व अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला के नाम पर रखा गया है। ये लांचिंग अमेरिकी नॉर्थरोप ग्रुमैन नासा की वॉलॉप्स फ्लाइट फैसिलिटी से शुरू की गई है और यह अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक कार्गो और जरूरी सामान की स्पलाई लेकर जाने का काम करने में सक्षम है। सूत्रों के मुताबिक, तकनीकी कारणों की वजह से इसकी लांचिंग में काफी समय लग गया । हालांकि नासा ने यान की देरी के कारणों का स्पष्टीकरण नहीं दिया है। एस.एस. कल्पना चावला नाम के इस यान को एनजी -14 मिशन के स्टेशन पर लगभग 3 हजार 630 किलोग्राम माल पहुंचाना था।  गुरुवार रात को यह अंतरिक्ष यान लॉन्च किया गया।

कल्पना चावला के नाम वाले अंतरिक्ष यान की लॉन्चिंग पर उनके पति जीन हैरिसन ने कहा कि ये जानकर कल्पना बहुत खुश होतीं कि इस रॉकेट का नामकरण उनके नाम पर रखा गया है। अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि कामयाब होने के लिए भारतीय पूरी दुनिया से मुकाबला कर सकते हैं। हैरिसन ने कहा कि उनके द्वारा किए गए कामों ने ना सिर्फ उनके सहकर्मियों बल्कि कई भारतीयों को भी प्रेरित किया है।

परंपरा के अनुसार रखा नाम

सूत्रों के अनुसार, कुछ दिनों पहले ही इस बात की घोषणा हुई थी कि नॉर्थरोप ग्रुमैन अपने इस अंतरिक्ष यान का नामकरण कल्पना चावला के नाम पर कर रहा है। इस बात की घोषणा करते हुए अपने बयान में उन्होंने कहा था कि पूर्व अंतरिक्ष यात्री के नाम पर एनजी-14 साइग्नस अंतरिक्ष यान का नाम रखने पर नॉर्थरोप ग्रुमैन को गर्व है। ये हमारी परंपरा है कि हर सिग्नस का नाम एक ऐसी शख्सियत के नाम पर रखा जाए, जिसने मानव अंतरिक्ष यान में कोई खास भूमिका निभाई हो। कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला थी। इतिहास में उनके अहम स्थान के सम्मान में चुना गया था। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios