Asianet News HindiAsianet News Hindi

इमरान खान के पैर में लगे थे गोली के टुकड़े, डेढ़ घंटे तक चला ऑपरेशन, हड्डी कटी, स्थिति में हो रहा सुधार

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के पैर से गोली के टुकड़े निकाल दिए गए हैं। लाहौर के शौकत खानम हॉस्पिटल में डेढ़ घंटे तक उनका ऑपरेशन चला। इमरान खान की सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है। 
 

Bullet fragments in Imran Khan leg operation lasted for one and a half hours vva
Author
First Published Nov 4, 2022, 1:17 PM IST

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पीटीआई अध्यक्ष इमरान खान (Imran Khan) की सेहत में सुधार हो रहा है। गुरुवार शाम में उनपर वजीराबाद में लॉन्ग मार्च के दौरान हमला हुआ था। पैरों में गोली लगने से वह घायल हो गए थे। उन्हें इलाज के लिए लाहौर के शौकत खानम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

शौकत खानम अस्पताल के डॉक्टर फैसल सुल्तान ने बताया है कि इमरान खान की तबीयत स्थित है। वह ठीक है। उनकी हालत तेजी से सुधर रही है। इमरान खान के पैर में गोली के टुकड़े फंसे हुए थे। गोली लगने से उनके पैर की टीबिया हड्डी दाहिनी ओर से कट गई है। डेढ़ घंटे तक चले ऑपरेशन में इमरान के पैर से गोली के टुकड़े निकाल दिए गए हैं। 

गुरुवार रात को डॉक्टर फैजल सुल्तान ने कहा था कि इमरान खान की तबीयत स्थिर है। वह ठीक हैं। उनका एक्स-रे और स्कैन किया गया है। यह पता चला है कि गोली के टुकड़े उनकी टांगों में मौजूद हैं। एक जगह पर उनकी एक टांग की टीबिया बोन थोड़ा था कट गई है। वह बातचीत कर रहे हैं। 

इमरान के कंटेनर की हुई जांच
पंजाब पुलिस द्वारा इमरान खान पर हुए हमले की जांच की जा रही है। शुक्रवार सुबह मामले की जांच में शामिल पुलिस अधिकारी वजीराबाद में घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने कंटेनर ट्रक की छत की जांच की। हमले के वक्त इमरान इसी कंटेनर पर खड़े थे। कंटेनर को क्राइम सीन घोषित कर दिया गया है। इसके चारों ओर घेराबंदी की गई है ताकि कोई वहां तक पहुंच नहीं सके। कंटेनर की सुरक्षा के लिए कमांडो तैनात किए गए हैं। फोरेंसिक विशेषज्ञ इलाके की जांच कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें- इमरान खान से लेकर श्रीलंकाई क्रिकेट टीम तक क्रिकेटर्स ने 5 बार हमले में मौत को दी मात

इमरान को पता था हमला होगा 
पीटीआई नेता शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि इमरान खान को पता था कि उनपर हमला होने वाला है। एक पाकिस्तानी टीवी चैनल से बात करते हुए कुरैशी ने कहा, "गुरुवार को ऑपरेशन के बाद उन्हें रिकवरी रूम में लाया गया तब उन्होंने मुझे, असद उमर और असद इकबाल को बुलाया। रात को हमारी उनसे मुलाकात हुई। उन्हें इस बात की जानकारी थी कि उनपर हमला हो सकता है। हमले की साजिश रची जा रही है। उन्हें मिटाने की साजिश रची जा रही है। उनसे कहा गया था कि वे वजीराबाद की ओर नहीं जाएं। वह हमले की साजिश से नहीं डरे और अपना लॉन्ग मार्च जारी रखा था।"

यह भी पढ़ें- उसी दिन फैसला कर लिया था कि इमरान खान को मारना है...पढ़ें पूर्व PM पर गोलियां चलाने वाले हमलावर का पहला बयान..

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios