Asianet News HindiAsianet News Hindi

जासूसी के आरोप में चीन के कब्जे में हैं कनाडाई नागरिक, ट्रूडो ने ने अमेरिका से किया ऐसा अनुरोध

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अमेरिका से कहा है कि वह चीन के साथ व्यापार समझौते पर तब तक हस्ताक्षर नहीं करे जब तक कि बीजिंग दो कनाडाई नागरिकों को रिहा नहीं कर देता
 

Canadian citizens are in possession of China on charges of espionage kpm
Author
New Delhi, First Published Dec 20, 2019, 3:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मोंट्रियल: कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अमेरिका से कहा है कि वह चीन के साथ व्यापार समझौते पर तब तक हस्ताक्षर नहीं करे जब तक कि बीजिंग दो कनाडाई नागरिकों को रिहा नहीं कर देता। चीन ने कनाडा के दो नागरिकों को जासूसी के आरोप में पिछले साल बंदी बनाया था।

चीन की कानूनी प्रणाली पारदर्शी नहीं है। उसने पूर्व राजनयिक माइकल कोवरिग और कारोबारी माइकल स्पावर को जासूसी के आरोप में 10 दिसंबर 2018 को गिरफ्तार किया था। कनाडा में इसे प्रतिशोध की कार्रवाई के रूप में देखा गया था क्योंकि इसके महज नौ दिन पहले हुआवेई की मुख्य वित्तीय अधिकारी मेंग वांझोऊ को वैंकूवर से गिरफ्तार किया गया था। वांझोऊ ईरान पर लगे प्रतिबंधों का उल्लंघन करने के आरोपों में अमेरिका में वांछित थी।

ट्रूडो से एक साक्षात्कार में पूछा गया कि क्या उन्हें ऐसा लगता है कि अमेरिका-चीन व्यापार समझौते से समाधान निकाल सकता है। इस पर उन्होंने कहा, ''ऐसी उम्मीद तो है।'' उन्होंने कहा, ''हमारा कहना है अमेरिका को चीन के साथ उस अंतिम समझौते पर हस्ताक्षर नहीं करना चाहिए जो मेंग वांझोऊ और कनाडा के दो नागरिकों संबंधी समस्या का समाधान नहीं देता हो।''

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

(फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios