Asianet News Hindi

चीन का नया पैंतराः कश्मीर में रक्तपात के लिए यूके को ठहराया दोषी

ब्रिटेन पर बेहद आलोचनात्मक लेख चीन के सिंहुआ न्यूज एजेंसी ने प्रकाशित किया था जिसकी हेडिंग ‘कश्मीरः क्रैक्स इन द क्राउन ज्वेल ऑफ द ब्रिटिश एम्पायर’ थी। यूके की आलोचना वाला यह लेख उस समय आया जब चीन और यूके कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर आमने-सामने हैं।

China alleged UK for bloodshed in kashmir, know why dragon is alleging hard internationally DHA
Author
Beijing, First Published May 31, 2021, 7:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बीजिंग। कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर पूरी दुनिया में छिड़ें विवादों के बीच ड्रैगन ने नया राग अलापा है। कश्मीर में खून-खराबा के लिए चीन ने ब्रिटेन को दोषी ठहराया है। चीन ने कहा कि ब्रिटेन की ‘फूट डालो-रोज करो’ नीति का परिणाम भारत-पाकिस्तान बंटवारे के बाद से भुगत रहे हैं। चीन के वरिष्ठ राजनयिक और विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने निशाना साधते हुए कहा कि जब तक कश्मीर में रक्तपात जारी रहेगा, ब्रिटेन अपने ‘खूनी औपनिवेशिक अतीत’ से खुद को कभी भी अलग नहीं कर सकता है।
ट्वीट कर लिजियन ने कहा कि ब्रिटेन ने अपनी फूट डालो और राज करो की नीति के माध्यम से घृणा की राजनीति को बढ़ावा दिया है। 

कोरोना वायरस की उत्पत्ति के सवाल पर चीन ब्रिटेन से है खफा

बता दें कि ब्रिटेन पर बेहद आलोचनात्मक लेख चीन के सिंहुआ न्यूज एजेंसी ने प्रकाशित किया था जिसकी हेडिंग ‘कश्मीरः क्रैक्स इन द क्राउन ज्वेल ऑफ द ब्रिटिश एम्पायर’ थी। यूके की आलोचना वाला यह लेख उस समय आया जब चीन और यूके कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर आमने-सामने हैं। ब्रिटेन ने भी डब्ल्यूएचओ से वायरस की उत्पत्ति को लेकर वुहान में फिर से जांच करने की सिफारिश की है। 
तिलमिलाए चीन ने ब्रिटेन पर जोरदार हमला किया है। झाओ लिजियन ने अपने ट्वीट में कहा कि, ब्रिटिश साम्राज्य का पतन हो गया लेकिन जाने से पहले उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच की राजनीति में नफरत का जहर बो दिया जो आने वाले कई दशकों तक खत्म नहीं होने वाला है। 

विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता बनने के पहले पाकिस्तान में रहे हैं राजदूत

लिजियन चीन के विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता हैं। इसके पहले वह पाकिस्तान में उप राजदूत भी रहे हैं। सिन्हुआ न्यूज एजेंसी में प्रकाशित अपने लेख में उन्होंने लिखा है कि ब्रिटिश साम्राज्य द्वारा भारत में स्वतंत्रता आंदोलन का उदय को रोकने कई षडयंत्र रचे गए जिसकी वजह से लाखों लोगों ने जान गंवाई। फूट डालो और राज करो की इस नीति को ब्रिटेन ने न केवल भारत में बल्कि अफ्रीका, पश्चिम एशिया और एशिया के व्यापक क्षेत्र में लागू किया। 

लिजियन खुद को पाकिस्तान का प्रशंसक बताता

चीनी विदेश मंत्रालय का प्रवक्ता झाओ लिजियन खुद को पाकिस्तान का दोस्त बताता है। कुछ दिनों पूर्व एक प्रेस ब्रीफिंग में प्रवक्ता ने ‘चीन-पाकिस्तान दोस्ती जिंदाबाद’ कहा था। झाओ लिजियन ने पिछले साल भी एक विवादित ट्वीट किया था। ट्वीट में आरोप लगाया था कि हो सकता है कि अमेरिकी सेना ने कोरोना वायरस को वुहान में लाया हो।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios