Asianet News HindiAsianet News Hindi

Covid-19 Updates: Europe में B.1.1.529 के पहले केस की पुष्टि, Belgium में मिला पहला संक्रमित

बेल्जियम सरकार ने कहा कि यह एक संदिग्ध वेरिएंट है। अभी तक यह ज्ञात नहीं है कि यह खतरनाक है या नहीं। हालांकि, एहतियातन दक्षिण अफ्रीका आने-जाने वाली फ्लाइट्स को रोक दिया गया है। बेल्जियम सरकार ने अपील की है कि पूरी सावधानी बरतें लेकिन घबराएं नहीं। 

Covid 19 new variant first case in Europe, Corona Virus B.1.1.529 found in Belgium, Know all updates DVG
Author
Brussels, First Published Nov 26, 2021, 10:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ब्रसेल्स। यूरोप (Europe) में कोविड-19 (Covid-19) के नए वेरिएंट (new variant) का पहला केस मिला है। बेल्जियम (Belgium) ने शुक्रवार को कहा कि यूरोप में नए कोविड -19 संस्करण का पहला केस उसके यहां मिला है। नए वेरिएंट से संक्रमित व्यक्ति विदेश से लौटा था, उसमें इसकी पुष्टि हुई है।

बेल्जियम के स्वास्थ्य मंत्री फ्रैंक वांडेनब्रुक (Frank Vandenbroucke) ने मीडिया से कहा, यहां भी नए वेरिएंट बी.1.1.529 के एक केस की पुष्टि हो चुकी है। बी.1.1.529, पहली बार दक्षिणी अफ्रीका में पाया गया था। उन्होंने बताया कि संक्रमित व्यक्ति का 22 नवंबर को टेस्ट पॉजिटिव आया था। पहले उसे कोविड -19 नहीं था।

मिस्र से लौटा है संक्रमित

बेल्जियम के एक प्रमुख वायरोलॉजिस्ट, मार्क वैन रैनस्ट ने ट्वीट किया कि वह व्यक्ति 11 नवंबर को मिस्र से लौटा था।

एहतियातन दक्षिण अफ्रीका की उड़ानों पर रोक

बेल्जियम सरकार ने कहा कि यह एक संदिग्ध वेरिएंट है। अभी तक यह ज्ञात नहीं है कि यह खतरनाक है या नहीं। हालांकि, एहतियातन दक्षिण अफ्रीका आने-जाने वाली फ्लाइट्स को रोक दिया गया है। बेल्जियम सरकार ने अपील की है कि पूरी सावधानी बरतें लेकिन घबराएं नहीं। 

ब्रिटेन की रेड लिस्ट में छह अफ्रीकी देश

ब्रिटेन ने नए वेरिएंट के खतरे को देखते हुए अफ्रीका के 6 देशों से आने वाली फ्लाइट्स पर फिलहाल रोक लगा दिया है। इनमें दक्षिण अफ्रीका, नामीबिया, बोत्सवाना, जिंबाब्वे, लिसोथो और एसवाटिनी शामिल हैं। ब्रिटेन के हेल्थ सेक्रेटरी साजिद जाविद ने बताया- देश की हेल्थ एजेंसी नए वेरिएंट की जांच कर रही है। हमें और डेटा की जरूरत है, लेकिन हम सावधानी बरत रहे हैं। इन 6 अफ्रीकी देशों को रेड लिस्ट में डाला जाएगा और ब्रिटेन आने वाले यात्रियों को क्वारंटाइन में रहना होगा।

साउथ अफ्रीका आने-जाने पर जर्मनी ने बैन लगाया

जर्मनी ने भी साउथ अफ्रीका आने-जाने वाले नागरिकों के ट्रवेल पर बैन लगाने का फैसला किया है। जर्मनी के हेल्थ मिनिस्टर जेंस स्पॉन ने शुक्रवार को कहा- नए नियम शुक्रवार रात से लागू होंगे, अफ्रीका के आस-पास के देशों पर भी ट्रवेल बैन लगाया जा सकता है। वैक्सीन लगे होने के बावजूद जर्मनी के नागरिकों को देश पहुंचने पर 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रहना होगा।

Read this also:

NITI Aayog: Bihar-Jharkhand-UP में सबसे अधिक गरीबी, सबसे कम गरीब लोग Kerala, देखें लिस्ट

Constitution Day: संविधान की जुड़वा संतानें हैं सरकार और न्यायपालिका-पीएम मोदी

PM बनने के 12 घंटे बाद ही देना पड़ा इस्तीफा, फिर Magdalena Anderson बनेंगी प्रधानमंत्री, सरकार गिराने वाले दोबारा दे रहे समर्थन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios