ह्यूस्टन. प्रधानमंत्री मोदी कुछ ही घंटों में अमेरिका के शहर ह्यूस्टन (एनआरजी स्टेडियम) में 50,000 से ज्यादा लोगों को संबोधित करेंगे। उनके साथ में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी मौजूद होंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्रम्प भी 30 मिनट का भाषण देंगे। कार्यक्रम का नाम हाउडी मोदी (Howdy Modi)है। 'हाउडी' का इस्तेमाल आमतौर पर अभिवादन के लिए किया जाता है। इसका मतलब होता है कि आप कैसे हैं। व्हाइट हाउस के मुताबिक 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम भारतीय समय अनुसार रात 9:20 बजे से शुरू होगा। कार्यक्रम शुरू होने से पहले ट्रम्प ने ट्वीट कर कहा, ह्यूस्टन में अपने दोस्त के साथ रहूंगा, टेक्सास के लिए एक महान दिन। 

"

ह्यूस्टन में मोदी का कार्यक्रम जल्द ही शुरू होने वाला है 
9:20 बजे: राष्ट्रपति ट्रम्प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंच पर आएंगे।
9:20- 9:30 बजे: ह्यूस्टन मेयर पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रम्प का स्वागत करेंगे।
9.39 -10:09 बजे: राष्ट्रपति ट्रम्प हाउडी मोदी में बात करेंगे।
10:15 बजे: पीएम मोदी हाउडी मोदी इवेंट में बोलेंगे।

दुनिया में पोप के बाद मोदी दूसरे शख्स, जो अमेरिका में बनाएंगे एक नया रिकॉर्ड
इस कार्यक्रम के आयोजक गैर-लाभकारी संस्था टेक्सास इंडिया फोरम (टीआइएफ) ने बताया कि इस कार्यक्रम में 50,000 से ज्यादा भारतीयों के आने की उम्मीद है। यह किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री को अमेरिका में सुनने के लिए सबसे बड़ी लाइव ऑडियंस होगी। इसके अलावा अमेरिका में पॉप फ्रेंसिस के बाद किसी भी विदेशी नेता का यह सबसे बड़ा कार्यक्रम है। 

अमेरिका में मोदी का तीसरा संबोधन
2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से मोदी का अमेरिका में यह तीसरा अहम भाषण होगा। 2014 में न्यूयॉर्क के मैडिसन स्क्वायर गार्डन में उन्होंने लोगों को संबोधित किया था। इसके अलावा 2016 में सिलिकॉन वैली में प्रधानमंत्री मोदी के लिए कार्यक्रम का आयोजन हुआ था। इन कार्यक्रमों में 20 हजार से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया था।

"

मोदी का जिस शहर में कार्यक्रम है उसे स्पेस सिटी कहते हैं 
ह्यूस्टन संयुक्त राज्य अमेरिका के टेक्सास राज्य का सबसे बड़ा शहर है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका में चौथा सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। यहां लगभग 20 लाख लोग रहते हैं। इस शहर का नाम सैम ह्यूस्टन के नाम पर रखा गया, जिन्होंने  टेक्सास की स्वतन्त्रता के लिए लड़ाई लड़ी थी। यहां पर नासा का मुख्यालय है। इसलिए इसे स्पेस सिटी भी कहते हैं।