Asianet News HindiAsianet News Hindi

शरीफ के सेहत में सुधार, उपचार के लिए ले जाए जा सकते है देश से बाहर

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज की सेहत में सुधार के संकेत मिले हैं, सोमवार की रात शरीफ को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, शरीफ के प्लेटेलेट अब 51,000 हो गए हैं। बेहतर इलाज के लिए लंदन ले जाने पर किया जा रहा विचार। 

Improvement in Sharif's health, can be taken outside the country for treatment
Author
Lahore, First Published Nov 1, 2019, 6:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लाहौर. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सेहत में सुधार के संकेत मिले हैं क्योंकि उनका प्लेटेलेट काउंट बढ़कर 51,000 के पार पहुंच गया है। बहरहाल, मीडिया में शुक्रवार को आई एक रिपोर्ट के अनुसार उनका रक्तचाप और मधुमेह का स्तर अब भी उच्च बना हुआ है। मेडिकल बोर्ड ने गुरुवार को पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के 69 वर्षीय नेता की जांच की। उन्हें यहां सर्विसेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

भाई ने समझाया तो गए अस्पताल

डॉन अखबार के अनुसार, शरीफ के प्लेटेलेट 35,000 से बढ़कर 51,000 हो गए हैं, जो उनकी सेहत में सुधार को दिखाता है। तीन बार प्रधानमंत्री रहे शरीफ को पाकिस्तान के भ्रष्टाचार रोधी निकाय की हिरासत से सोमवार रात को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनकी प्लेटेलेट 2,000 तक गिर गए थे। अखबार ने बताया कि शुरुआत में शरीफ अस्पताल जाने के लिए तैयार नहीं थे लेकिन जब उनके छोटे भाई शहबाज शरीफ ने उन्हें मनाया तो वह सर्विसेज अस्पताल में इलाज कराने पर राजी हो गये।

निलंबित हुई सजा

इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने भ्रष्टाचार के एक मामले में शरीफ की सात साल की सजा मंगलवार को आठ सप्ताह के लिए निलंबित कर दी है। जिससे मेडिकल आधार पर उनकी रिहाई का रास्ता साफ हो गया। उन्हें चौधरी शुगर मिल्स से जुड़े धन शोधन के एक मामले में लाहौर उच्च न्यायालय से पहले ही जमानत मिल चुकी है।

ले जाए जा सकते है विदेश

शरीफ को बेहतर इलाज के लिए लंदन ले जाने के संबंध में पीएमएल-एन के महासचिव एहसान इकबाल ने बुधवार को कहा कि डॉक्टरों की पहली और सर्वप्रथम कोशिश उनकी हालत को स्थिर करना है। इकबाल ने कहा, ‘‘एक बार जब उनकी हालात स्थिर हो जाएगी तो विदेश जाने का सवाल पैदा होगा और फिर फैसला होगा।’’ एक अन्य पीएमएल-एन नेता और पूर्व विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि शरीफ खुद फैसला करेंगे कि वह विदेश में इलाज कराना चाहते हैं या नहीं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios