Asianet News Hindi

पाकिस्तान के नौसैनिक अभ्यास पर भारत की पैनी नजर, अरब सागर में तैनात किए युद्धपोत

पाकिस्तान की तरफ से अरब सागर में किए जा रहे नौसैनिक अभ्यास पर भारत की कड़ी नजर है। बता दें कि अगले कुछ दिनों तक पाकिस्तान समुद्र में रॉकेट और मिसाइल फायरिंग के जरिए अपना युद्धाभ्यास जारी रखेगा। पाकिस्तान की तरफ से किए जा रहे इस अभ्यास पर भारत भी पूरी तरह से सतर्क है।

India keeps a close watch on Pakistan's naval exercises, warships deployed in Arabian Sea
Author
New Delhi, First Published Sep 26, 2019, 9:46 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पाकिस्तान की तरफ से अरब सागर में किए जा रहे नौसैनिक अभ्यास पर भारत की कड़ी नजर है। बता दें कि अगले कुछ दिनों तक पाकिस्तान समुद्र में रॉकेट और मिसाइल फायरिंग के जरिए अपना युद्धाभ्यास जारी रखेगा। पाकिस्तान की तरफ से किए जा रहे इस अभ्यास पर भारत भी पूरी तरह से सतर्क है। साथ ही कुछ युद्धपोत, पनडुब्बियां और समुद्री सीमा की पट्रोलिंग करने वाले विमान के साथ-साथ कुछ युद्धक विमान को आगे की लाइन में तैनात कर रखे हैं। बता दें कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद से भारत और पाकिस्तान में तनातनी चल रही है। इस्लामाबाद कई बार परमाणु हमले की धमकी तक दे चुका है।

भारत के सशस्त्र बल हर स्थिति के लिए तैयार
सुरक्षा एजेंसी का कहना है कि पाकिस्तान की तरफ किए जा रहे युद्धाभ्यास पर नजदीक से नजर रखी जा रही है। जिससे अगर पाकिस्तान कोई हिमाकत करता है तो भारत के सशस्त्र बल उन स्थितियों के लिए भी तैयार है। बता दें कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटा कर राज्य से विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान की तरफ से हमले का खतरा बढ़ गया है। सूत्रों का कहना है कि, 'हालांकि, पाकिस्तान का यह युद्धाभ्यास सामान्य प्रक्रिया के तहत हो रहा है, लेकिन उसका इरादा कभी भी बदल सकता है।'

पाक को दिया जाएगा मुंह तोड़ जवाब
बताया जा रहा है कि पाकिस्तान ने उत्तरी अरब सागर से गुजरने वाले मालवाहक जहाजों के लिए मेरिटाइम अलर्ट जारी कर कहा कि वह 25 से 29 सितंबर तक लाइव मिसाइल, रॉकेट और बंदूकों की फायरिंग करेगा। सूत्रों ने बताया कि इस दौरान पाकिस्तान की हर हरकत पर भारत की नजर रहेगी। साथ ही कहा कि अगर पाकिस्तान की तरफ से कुछ भी रुटीन से हटकर होता है तो उसका मुहंतोड़ जवाब दिया जाएगा। भारतीय नौसेना और वायुसेना ने इसकी पर्याप्त व्यवस्था कर रखी है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios